राजनाथ सिंह ने ऑस्ट्रेलियाई के रक्षा मंत्री के साथ वार्ता को बताया 'सफल'

राजनाथ सिंह ने ऑस्ट्रेलियाई के रक्षा मंत्री के साथ वार्ता को बताया 'सफल'

नई दिल्ली | भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने शुक्रवार को दिल्ली में अपने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष पीटर डटन (Defence Minister of Australia, Peter Dutton) से मुलाकात की। मुलाक़ात को बेहद सकारात्मक बताते हुए सिंह ने कहा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच साझेदारी मुक्त, खुले, समावेशी और नियम-आधारित हिंद-प्रशांत क्षेत्र (Indo-Pacific region) के साझा दृष्टिकोण पर आधारित है। 

दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों ने रक्षा सहयोग के साथ-साथ उभरते क्षेत्रीय मुद्दों पर भी चर्चा की। रक्षा मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है की, "दोनों पक्ष एक स्वतंत्र, खुले, समावेशी और नियम-आधारित हिंद-प्रशांत क्षेत्र के साझा  दृष्टिकोण के आधार पर भारत-ऑस्ट्रेलिया व्यापक रणनीतिक साझेदारी की पूरी क्षमता का एहसास करने के लिए संयुक्त रूप से काम करने के लिए सहमत हैं।"

राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्होंने डटन के साथ द्विपक्षीय रक्षा सहयोग (Bilateral defense cooperation) के साथ-साथ क्षेत्रीय मुद्दों पर उपयोगी और व्यापक चर्चा की। "हम दोनों भारत-ऑस्ट्रेलिया व्यापक रणनीतिक साझेदारी की पूरी क्षमता का एहसास करने के लिए संयुक्त रूप से काम करने के इच्छुक हैं।"

उन्होंने कहा, "ऑस्ट्रेलिया और भारत दोनों का क्षेत्र में शांति, विकास और व्यापार के मुक्त प्रवाह, नियम-आधारित व्यवस्था और आर्थिक विकास में जबरदस्त हिस्सेदारी है।" उन्होंने कहा कि उनकी चर्चा द्विपक्षीय रक्षा सहयोग और सेवाओं में सैन्य जुड़ावों के विस्तार, रक्षा सूचना साझाकरण को बढ़ाने, उभरती रक्षा प्रौद्योगिकियों में सहयोग और आपसी रसद समर्थन पर केंद्रित थी।

दोनों पक्षों ने इस बात पर भी खुशी जताई कि ऑस्ट्रेलिया 2020 में नौसेना के मालाबार अभ्यास (Malabar Naval Exercises) में शामिल हुआ। राजनाथ सिंह ने कहा, "इस संदर्भ में हमने इस साल मालाबार अभ्यास में ऑस्ट्रेलिया की निरंतर भागीदारी पर भी संतोष व्यक्त किया।"

उन्होंने डटन को 'आत्मनिर्भर भारत' (Self Reliant india) की दिशा में भारत के हालिया प्रयासों और भारत में बढ़ते नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र के बारे में अवगत कराया। उन्होंने रक्षा क्षेत्र में भारत की उदार प्रत्यक्ष विदेशी निवेश नीतियों (liberal foreign direct investment policies) का लाभ उठाने के लिए ऑस्ट्रेलियाई उद्योग को आमंत्रित करते हुए कहा, "हमने रक्षा विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में एक साथ काम करने के अवसरों पर चर्चा की।"

राजनाथ सिंह ने कहा, "हम दोनों सहमत हैं कि सह-विकास और सह-उत्पादन के लिए द्विपक्षीय सहयोग के अवसर हैं। भारत पूरे क्षेत्र की सुरक्षा और विकास के लिए ऑस्ट्रेलिया के साथ एक मजबूत साझेदारी बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।"

0Comments