होम > राज्य

यूपी विधानसभा चुनाव में सपा, एनसीपी ने मिलाया हाथ

लखनऊ | यूपी के 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी। मंगलवार को लखनऊ में प्रेस वार्ता में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के महासचिव केके शर्मा और प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने यह बात कही। नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव केके शर्मा मंगलवार को लखनऊ में थे। इस मौके पर यूपी प्रेस क्लब में शर्मा ने मीडिया से कहा कि अगले वर्ष उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए सभी विपक्षी दलों को मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी की अगुआई में मोर्चा बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए एनसीपी की ओर से प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। हम महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल की तरह उत्तर प्रदेश में भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए प्रयासरत हैं। यहां पर समाजवादी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे और भाजपा को रोकेंगे।


उन्होंने कहा कि पार्टी सुप्रीमो शरद पवार ने साफ कहा है कि यूपी में एनसीपी को युवाओं की और किसानों की आवाज उठानी होगी, क्योंकि वहां भाजपा सरकार लोकतंत्र के लिए खतरा पैदा कर रही है। जो भी आवाज उठा रहा है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है और उसे दबाया जा रहा है।


शर्मा ने कहा कि जबरन धर्म परिवर्तन करना गलत है, पर अगर कोई अपनी इच्छा से धर्म परिवर्तन कर रहा है तो इसमें किसी को क्या आपत्ति नहीं होनी चाहिए। वहीं, प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने कहा कि एक अगस्त से एनसीपी प्रदेश भर में 'प्रदेश बचाओ संविधान बचाओ' आंदोलन की शुरुआत करेगी, जिसमें किसानों और नौजवानों पर फोकस किया जाएगा।


उन्होंने कहा कि यूपी की स्थिति खराब है। किसान अपने हक की लड़ाई लड़ रहे हैं, लेकिन उनकी सुनी नहीं जा रही है। अब एनसीपी भी इस मुहिम में उनके साथ है और गांव-गांव जाकर अभियान चलाएगी। उन्होंने कहा कि किसान अपने हक की लड़ाई लड़ रहे हैं, लेकिन उनकी सुनी नहीं जा रही है। अब एनसीपी भी इस मुहिम में उनके साथ है और गांव-गांव जाकर अभियान चलाएगी।