होम > राज्य > पंजाब

कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाने से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नाराज

कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाने से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नाराज

नई दिल्ली| पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह को पद से हटाए जाने से वरिष्ठ नेताओं में नाराजगी की बात सामने आई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, जिनमें जी-23 के कुछ नेता भी शामिल हैं, पंजाब से अमरिंदर सिंह को रुखसत किए जाने के तरीके से नाखुश हैं।


जी-23 के सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस ने 'तीन हैंगमैन भेजे - एक पूर्व मुख्यमंत्री, जो दो सीटों पर हार गया, एक दिल्ली का नेता, जो लगातार चुनावों में शून्य स्कोर कर रहा है और एक व्यक्ति, जो मुख्यमंत्री की (अमरिंदर सिंह, जिन्हें 117 की विधानसभा में 80 सीटें मिलीं) की कद से मेल नहीं खाता।


असंतुष्ट नेताओं में से अधिकांश ने निवर्तमान मुख्यमंत्री से संपर्क किया और उनके साथ एकजुटता व्यक्त की, लेकिन साथ ही सार्वजनिक रूप से बोलने से खुद को रोक लिया।


सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस ने अमरिंदर सिंह के विरोध की उम्मीद नहीं की थी और सोचा था कि वह सीएलपी में शामिल होंगे और एआईसीसी की स्क्रिप्ट का पालन करेंगे, लेकिन उन्होंने सीएलपी से पहले इस्तीफा दे दिया और बैठक में शामिल नहीं हुए।


अमरिंदर ने साथ ही नवजोत सिद्धू को राष्ट्र विरोधी, खतरनाक, अस्थिर, अक्षम और राज्य और देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया।


यह स्पष्ट करते हुए कि उनका राजनीति छोड़ने का कोई इरादा नहीं है, अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू का समर्थन करने का कोई सवाल ही नहीं है।


निवर्तमान मुख्यमंत्री ने सीमा पार नेतृत्व के साथ करीबी गठबंधन के लिए सिद्धू पर निशाना साधते हुए कहा, "मैं ऐसे व्यक्ति को हमें नष्ट करने की अनुमति नहीं दे सकता, मैं उन मुद्दों से लड़ना जारी रखूंगा जो हमारे राज्य के लिए हानिकारक है।

0Comments