हिमाचल में बारिश के बाद भूस्खलन से शिमला-पठानकोट हाईवे बंद

 हिमाचल में बारिश के बाद भूस्खलन से शिमला-पठानकोट हाईवे बंद

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के घंडल में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के पास बारिश के कारण हुए भूस्खलन के चलते सड़क का एक हिस्सा बह गया है। नतीजतन शिमला-पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग 205 पर इस समय यातायात रूकी हुई है। सोमवार रात को हुए इस हादसे में जानमाल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है। 


जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों ने कहा कि कालीहट्टी और नलहट्टी से होकर एक वैकल्पिक रास्ते से ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया है।


कांगड़ा जिले के बारा-भंगल गांव में भी भारी बारिश के कारण आई बाढ़ की वजह से एक फुटब्रिज क्षतिग्रस्त हो गया है, जिससे दूसरे जगहों का इनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। 


बड़ा-भंगल पंचायत प्रधान मनसा राम भंगालिया ने कहा कि पुलों के क्षतिग्रस्त होने के कारण थमसर दर्रे से गांव तक जाने वाला रास्ता अवरुद्ध है।


कांगड़ा जिले के बैजनाथ के बीर गांव से बड़ा-भंगल तक 4,665 मीटर थमसर दर्रे के 70 किलोमीटर के ट्रेक द्वारा पहुंचा जा सकता है। गांव पहुंचने में तीन दिन लगते हैं। चंबा के भरमौर के नया ग्रैन से और मनाली से 4,800 मीटर ऊंचे कलिहानी दर्रे को पार करके दो वैकल्पिक लेकिन खतरनाक मार्ग हैं।


पुलों के क्षतिग्रस्त होने से गांव में राशन की आपूर्ति प्रभावित हो रही है। थमसर दर्रा ट्रेक के माध्यम से राशन की आपूर्ति की जाती है क्योंकि यह सबसे आसान मार्ग है। होली से आपूर्ति संभव नहीं है, लेकिन ऐसे समय में मनाली से चीजों की आपूर्ति की जा सकती है।

0Comments