होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

पीपुल हेड काउन्टिंग डिवाइस से की जायेगी चालाक परिचालक एवं यात्रियों की संख्या की मानीटरिंग

पीपुल हेड काउन्टिंग डिवाइस से की जायेगी चालाक परिचालक एवं यात्रियों की संख्या की मानीटरिंग

उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर सिंह ने कल बताया कि परिवहन निगम में यात्रियों को बेहतर सुविधा एवं सुरक्षा प्रदान करने के लिए तथा निगम में पारदर्शी व्यवस्था अपनाने हेतु नई तकनीक का समावेश लगातार किया जा रहा हैं। इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए परिवहन निगम अपनी बसों में निगम के राजस्व एवं यात्रियों की सुरक्षा की दिशा में एक नई पहल करते हुए कैमरा आधारित पीपुल हेड काउन्टिंग डिवाइस व्यवस्था लागू की है।

इसके माध्यम से चालक व परिचालकों के व्यवहार की मानीटरिंग की जायेगी साथ ही बसों में यात्रा करने वाले यात्रियों की गणना एवं सुरक्षा भी सुनिश्चित होगी। पाइलेट प्रोजेक्ट के तौर पर इस तकनीकी का सर्वप्रथम वाराणसी क्षेत्र की बसों में लाइव टेस्टिंग प्रारम्भ कर दी गयी है।

दयाशंकर सिंह ने बताया कि 01 माह के अध्ययन उपरान्त प्राप्त आख्या अनुसार इसे प्रदेश में संचालित सभी बसों में लागू करने पर विचार जायेगा। उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था के अन्तर्गत चालक का सम्पूर्ण व्यवहार जैसे झपकी आना, नींद आना, मोबाइल पर बाते करना आदि पर अलार्म जनरेट होगा, जिसके आधार पर चालक को सर्तक कर बस में यात्रारत यात्रियों की सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित होगी।

दयाशंकर सिंह ने बताया कि पीपुल हेड काउन्टिंग डिवाइस से वाहन में चढ़ने-उतरने वाले प्रत्येक यात्री की कैमरा आधारित छवि एवं गणना की लाइव सूचना मानीटरिंग सेन्टर को प्राप्त होगी। जिसका मिलान निगम की नई टिकट प्रणाली में प्राप्त रियल टाइम आकड़ों से कर निगम आय की शत-प्रतिशत निगरानी सुनिश्चित होगी। उन्होंने बताया कि रोडवेज बसों में यात्रियों की संख्या एवं टिकटों की संख्या में गड़बड़ी की शिकायत भी दूर होगी।