होम > राज्य > बिहार

बिहार : सुपौल जिले के 91 वर्षीय वृद्ध ने रचा इतिहास,सिल दिये 450 तिरंगे

बिहार : सुपौल जिले के 91 वर्षीय वृद्ध ने रचा इतिहास,सिल दिये 450 तिरंगे

पटनाबिहार राज्य  में एक 91 वर्षीय ग्रामीण युवक ने अपनी सिलाई मशीन से सात दिन,12 घंटे के कड़ी मेहनत करते हुए, 450 राष्ट्रीय ध्वज सिलाई मशीन में सिलकर समय सीमा पर तैयार करके दिये। बूढ़ा व्यक्ति को हर दिन 12 घंटे के कठिन कार्यक्रम के माध्यम से देश के 450 राष्ट्रीय ध्वज सिलने का ऑर्डर मिला था, उन्होंने बताया कि जो मुझे पता था ,कि यह मेरे लिए एक कठिन काम है। हालांकि यह एक नेक काम था, और मुझे गर्व है कि स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले जितनी संख्या में झंडे मांगे गए थे, मैंने उन्हें देने का काम पूरा किया। लालमोहन पासवान जो नेपाल की सीमा से लगे सुपौल जिले के एक  गाँव में रहते हैं, खुद को गांधीवादी कहते हैं। जवाहरलाल नेहरू और राजेंद्र प्रसाद को अपने आदर्शों में गिनाते हैं।

लालमोहन पासवान ने बताया  कि मैं सिलाई काम करीब 6 वर्षो से कर रहा हूँ , और जब मुझे 450 तिरंगे  सिलकर बनाने काआदेश मिला, तो मुझे पता था,कि यह एक कठिन काम था, लेकिन यह एक पवित्र काम था। जो स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले झंडें तैयार करकर दे दिया । यह आदेश, आज़ादी का अमृत महोत्सव अभियान का था। इसलिए पूरी लगन के साथ समय सीमा पर काम पूरा किया। जो वंचित और निराश्रित बुजुर्गों का समर्थन करता है, उन्हें अपने आजीविका कार्यक्रम के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाता है।