होम > राज्य > दिल्ली

दिल्ली फिर चढ़ी हत्या की भेंट, कुल दीपक ने ही किया कुल का सर्वनाश -मेधज न्यूज़

दिल्ली फिर चढ़ी हत्या की भेंट, कुल दीपक ने ही किया कुल का सर्वनाश -मेधज न्यूज़

वर्तमान समय में हालात बद से बदतर होते जा रहे है, भाहरी दुश्मनों से कम खतरा लगता है, शहर, राज्य, और देश के अंदर ही सब आपस में एक दूसरे को मार कर खाने की कोशिश में है, क्या होगा देश का, जहां देखो बस किसी को किसी बहाने से मारने का मौका चाहिए, लोग अपने ही घरों में सुरक्षित नहीं हैं, पता नहीं किसके मन में कब क्या चल रहा होता है, फिर चाहे वो प्रेम प्रसंग का मामला हो, प्रॉपर्टी का मामला हो या फिर छोटी मोटी आपसी रंजिस, जाने क्यों किसी को मारना इतना आसान होता जा रहा है।  वारदात की लिस्ट में बात करे तो देश की राजधानी दिल्ली इस मामले में सबसे ज्यादा नाम कमा रही है, अभी हाल ही में देश की राजधानी में हुए मर्डर कांड का महीना भी नहीं बीता कि दिल्ली के पालम में एक ही परिवार के 4 सदस्यों की बेरहमी से चाकू से गोदकर हत्या कर दी गयी, मरने वालों में दो बहने, उनके पिता और दादी शामिल हैं।

दिल्ली पुलिस द्वारा दी जानकारी के मुताबिक आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है, हत्यारा कोई बाहरी नहीं हैं, बल्कि घर का ही युवक हैं, युवक ने अपने ही
परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हमला कर उनकी हत्या की थी। युवक ने वारदात को अंजाम उस वक्त दिया जब परिवार के अन्य सदस्य रात के समय घर में सो रहे थे।

आरोपी केशव ड्रग एडिक्ट है, जो कुछ ही दिनों पहले ड्रग्स एडिक्शन सेंटर से बाहर आया था, जिसकी उम्र 25 वर्ष है। पुलिस ने वारदात स्थान से अपराध में इस्तेमाल हथियार को बरामद कर लिया है।

कुछ अजीबो गरीब आवाजें और आहत सुन पड़ोसी द्वारा रात में पुलिस को सूचना दी गई, रात करीब 10.30 बजे मौके पर पहुंची पुलिस को देख आरोपी केशव ने भागने की कोशिश की, मगर पुलिस को फोन करने वाले पडोसी और पुलिस ने मौके से ही उसे धर दबोचा। पुलिस कमिश्नर ने धारा 302 के तहत मामले की आगे की जांच की जाँच करने के आदेश दिए है। पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक प्रारंभिक जांच में अपराध का मुख्य उद्देश्य पारिवारिक झगड़ा बताया जा रहा है।

चचेरे भाई ने भागते आरोपी केशव को पकड़ा:

मृतक परिवार के सदस्य ने अपने बयान में पुलिस को बताया कि उसने कजिन उर्वशी को मदद के लिए चिल्लाते सुना,  घर पहुँच उसने दरवाजा खटखटाया मगर दरवाजा न खुलने के बाद उसने दरवाजा तोड़ने का प्रयास किया, मगर वो भी न टूटा। जिसके पश्चात उसने पुलिस को फोन कर मौके पर हो रहे वारदात से अवगत कराया।