होम > राज्य

वृंदावन में यमुना का जलस्तर बढ़ने से परिक्रमा मार्ग बाधित

वृंदावन में यमुना का जलस्तर बढ़ने से परिक्रमा मार्ग बाधित

हथिनी कुंड बैराज एवं ताजेवाला बांध से पानी छोड़े जाने का असर धर्मनगरी मथुरा जिले के वृंदावन में दिखने लगा है। यहां यमुना के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है। पुराने घाटों पर यमुना की धारा हिलोरें मार रही है। परिक्रमा मार्ग समेत निचले इलाकों में बनी कालोनियों में रह रहे लोगों को बाढ़ का खतरा सताने लगा है। हजारों एकड़ खेती योग्य भूमि भी यमुना की आगोश में आ गई है। कुंभ मेला क्षेत्र भी बाढ़ की चपेट में आ चुका है  वृंदावन में यमुना के समीप कॉलोनियों में यमुना का पानी भर गया है 


बस्ती में लवालब पानी भरने की वजह से लोगों को आने-जाने में काफी दिक्कतें हो रहीं हैं ऐसा ही वीडियो मथुरा से सामने आया है, जिसमें एक बच्चा भगौने में बैठकर पानी से गुजर रहा है | प्रशासन की अनदेखी से लोगों को आवागमन में भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है  स्थानीय निवासी सीताराम शर्मा ने बताया कि संसाधन के अभाव के चलते लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं | खाने-पीने के लिए कई परिवार परेशान प्रशानिक मदद की आस देख रहे हैं 


प्रशासन द्वारा यहां के लोगों से घर खाली करने के लिए मुनादी तो करादी गई है, लेकिन यहां फंसे लोगो को निकालने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने कोई इंतजाम नहीं किए हैं चीरघाट से भ्रमर घाट होते हुए केसीघाट जाने वाले परिक्रमा मार्ग में यमुना का पानी आने से परिक्रमा मार्ग बाधित हो गया है।


केसीघाट की अधिकांश सीढ़ियां यमुना के पानी में डूब चुकी हैं। यमुना के जलस्तर में हो रही वृद्धि के बाद यमुना के विहंगम दृश्य को देखने के लिए शाम के समय लोगों की भीड़ घाटों पर जुट रही है। बता दें कि पहाड़ी इलाकों में पिछले दिन हुई झमाझम बरसात के चलते नदियों का जलस्तर बढ़ने से हथिनी कुंड बैराज एवं ताजेवाला बांध पर पानी का दबाव बढ़ रहा था। इस कारण हथिनी कुंड एवं ताजेवाला बांध से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। ऐसे में वृंदावन में यमुना के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है।