होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के माध्यम से बुन्देलखण्ड क्षेत्र विकास की नई ऊंचाइयों को छू रहा : सीएम योगी

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के माध्यम से बुन्देलखण्ड क्षेत्र विकास की नई ऊंचाइयों को छू रहा : सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल रानी लक्ष्मी व्यायाम मंदिर कॉलेज, जनपद झांसी में प्रबुद्धजन सम्मेलन को सम्बोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने जनपद झांसी के विकास से जुड़ी 328 करोड़ रुपये लागत की 102 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने कॉफी टेबल बुक ‘झांसी’ का विमोचन भी किया। सम्मेलन में नगर विकास, औद्योगिक विकास तथा मिशन शक्ति पर आधारित 03 लघु फिल्मों का प्रदर्शन किया गया।

इस अवसर पर सीएम योगी ने जनपद के प्रबुद्धजनों-उद्योगपतियों, व्यापारियों, चिकित्सकों, अधिवक्ताओं, शिक्षकों व युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में विकास की अपार सम्भावनाएं हैं, जिन्हें प्रदेश सरकार ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि कभी बुन्देलखण्ड सूखा, बदहाली, अराजकता तथा प्राकृतिक संसाधनों पर लूट-खसोट के लिए जाना जाता था। प्राकृतिक संसाधनों से समृद्ध होने के बावजूद बुन्देलखण्ड की तस्वीर को खराब ढंग से प्रस्तुत किया जाता था। वर्ष 2017 में मुख्यमंत्री बनने के बाद वे प्रधानमंत्री जी से मिलने गये थे। प्रधानमंत्री द्वारा उन्हें प्रदेश के दौरे की शुरूआत बुन्देलखण्ड से करने की सलाह दी गयी थी। प्रधानमंत्री ने कहा था कि बुन्देलखण्ड की जो तस्वीर प्रस्तुत की जाती है, उससे बुन्देलखण्ड को उबारना है, वहां के विकास के लिए कार्य करने की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड के पहले दौरे पर उन्होंने बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के निर्माण की घोषणा की थी। आज इसके माध्यम से बुन्देलखण्ड विकास की नई ऊंचाइयों को छू रहा है। प्रधानमंत्री ने इसी वर्ष इसे राष्ट्र को समर्पित किया है। अब चित्रकूट से दिल्ली की दूरी 05 घण्टे में तय हो जाती है। पहले बुन्देलखण्ड में आवागमन दुरुह था, आज दूरी घट चुकी है तथा आवागमन आसान हो चुका है। पहले बुन्देलखण्ड में माफिया द्वारा व्यापारियों तथा गरीबों की सम्पत्ति हड़प ली जाती थी। आज पुलिस माफियाओं के लिए काल बनी है। यह क्षेत्र डकैती से मुक्त हुआ है, अपराधियों तथा माफियाओं का बोलबाला समाप्त हुआ है। बुन्देलखण्ड क्षेत्र की सम्भावनाओं को हमारे जनप्रतिनिधिगण शासन-प्रशासन के सहयोग से आगे बढ़ाते हुए यहां के विकास में निरन्तर वृद्धि लाने का कार्य कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश डिफेन्स इण्डस्ट्रियल कॉरीडोर के 02 महत्वपूर्ण नोड झांसी और चित्रकूट में बन रहे हैं। भारत डायनमिक्स लिमिटेड की महत्वपूर्ण इकाई यहां स्थापित हो रही है। प्रधानमंत्री जी ने इसका शिलान्यास किया था। यह कार्यक्रम निरन्तर चल रहा है। आज बुन्देलखण्ड में बेहतर कनेक्टिविटी के साथ ही, यहां के नौजवानों को नौकरी और रोजगार मिला है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड में जल की कमी नहीं थी, यहां सरफेस वॉटर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध था, लेकिन यह क्षेत्र जल के लिए तरसता था। राज्य सरकार ने यहां के लिए पेयजल योजना बनायी। भारत सरकार ने ‘जल जीवन मिशन’ की शुरुआत की। आज बुन्देलखण्ड के हर गांव और हर घर तक आर0ओ0 का शुद्ध जल पहुंचाने के हम नजदीक पहुंच चुके हैं। शीघ्र ही बुन्देलखण्ड के हर घर में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदूषित जल अनेक प्रकार की बीमारियों का कारण होता है। शुद्ध पेयजल आधी से अधिक बीमारियों को दूर कर देता है। यह व्यक्ति के जीवन के लिए ईज़ ऑफ लिविंग के लक्ष्य को आसान बनाता है। इससे दवा का खर्च बचेगा।  घर में जल की उपलब्धता से बहन और बेटियों को पानी लेने के लिए दूर पैदल नहीं जाना पड़ेगा। बुन्देलखण्ड की बड़ी समस्या का समाधान हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि झांसी के लोगों ने वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई के नेतृत्व में आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। जनपद झांसी प्राकृतिक संसाधनों एवं सौंदर्य से परिपूर्ण है। जनपद झांसी के पर्यटन विकास की असीम संभावनाओं को मूर्त रूप दिया जा रहा है। हमारा उद्देश्य लोगों को सुरक्षा का माहौल प्रदान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति का आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षिक विकास करना है। झांसी में ‘सेफ सिटी’ परियोजना का कार्य प्रारम्भ हो चुका है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण के पश्चात झांसी में विकास के नए पंख लग गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में आज उत्तर प्रदेश निवेश का सबसे अच्छा गंतव्य बना है। बेहतर ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के चलते दुनिया का हर निवेशक उत्तर प्रदेश में निवेश करना चाहता है। प्रदेश सरकार ने  अपराध तथा भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई है। वर्ष 2017 से पहले प्रदेश में अपराधी संगठित अपराध करते थे, जिसके कारण निवेशक आने से डरते थे। लेकिन आज अपराधी प्रदेश से पलायन कर रहे हैं। जो व्यापारी पलायन कर गए थे, वे वापस आकर प्रदेश में व्यापार कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश अनन्त संभावनाओं का प्रदेश है। राज्य सरकार ने प्रदेश में शान्ति, सुरक्षा, विकास एवं निवेश का वातावरण विकसित किया है। हमारे पास दुनिया का सबसे जुझारू, प्रतिभाशाली व ऊर्जावान युवा है। प्रदेश सरकार युवाओं को मौका दे रही है, जिससे प्रदेश के विकास को गति मिली है। आज उत्तर प्रदेश देश की दूसरी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। यह नये भारत का नया उत्तर प्रदेश है।

प्रदेश सरकार ने जो नीतियां बनाई हैं, उनसे प्रदेश में उद्योग, व्यापार का माहौल बना है। प्रदेश में देश ही नहीं विदेशों से निवेशक आएं, उन्हें सुरक्षा का माहौल मिलेगा, पूंजी सुरक्षित रहेगी और हमारी नीतियों का लाभ भी मिलेगा। निवेश से प्रदेश के युवाओं को रोजगार मिलेगा। इसी परिप्रेक्ष्य में प्रदेश में अगले वर्ष फरवरी में ‘यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023’ आयोजित की जायेगी। देश की सबसे अच्छी औद्योगिक नीति सहित स्टार्टअप, टेक्सटाइल, सोलर एनर्जी समेत 25 सेक्टरों के लिए आकर्षक नीतियां बनायी गयी हैं। यदि कोई शिक्षण संस्थान, चिकित्सालय, बारातघर, कन्वेंशन सेंटर व छोटे उद्यम लगाता है तो वह भी हमारे लिए निवेश है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी), एक जनपद एक उत्पाद योजना एवं प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के 05-05 लाभार्थियों को क्रमशः आवास की चाभी एवं ऋण प्रमाण-पत्र वितरित किए।

केन्द्रीय सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा ने अपने कहा कि बुन्देलखण्ड का चहुंमुखी विकास मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सत्ता में आने के पश्चात प्रारम्भ हुआ है। मुख्यमंत्री ने सर्वप्रथम कानून व्यवस्था को सुदृढ़ करने का कार्य किया, जिससे प्रदेश में व्याप्त माफिया राज पर पूर्ण रूप से अंकुश लगा है। बुन्देलखण्ड को बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे एवं उत्तर प्रदेश डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर जैसी बहुमूल्य सौगातें प्राप्त हुई हैं। उत्तर प्रदेश डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर में सेना में प्रयुक्त होने वाले उपकरणों को बनाने का कार्य किया जाएगा जो हम सभी के लिए गौरव की बात है। इसी प्रकार बुन्देलखण्ड तकनीकी सेंटर की स्थापना के पश्चात यहां के युवाओं को उत्कृष्ट तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त होेगा, जिससे यहां के युवाओं को कौशल के साथ-साथ आजीविका विकसित करने के भी अवसर प्राप्त हो सकेंगे। सरकारी विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं से बिचौलियों की भूमिका समाप्त हुई है। डी0बी0टी0 के माध्यम से सीधे लाभार्थी के खाते में धनराशि का अन्तरण किया जाता है।

इस अवसर पर विधान परिषद सभापति कुंवर मानवेन्द्र सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।