होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

मिशनरी स्कूल के प्रधानाचार्य ने दलित छात्र को पीटा

मिशनरी स्कूल के प्रधानाचार्य ने दलित छात्र को पीटा

लखनऊ में मोहनलालगंज कस्बा स्थित मिशनरी शिक्षण संस्थान सेंट पीटर्स स्कूल से अजीबो गरीब मामला सामने आ रहा हैं जिसमे स्कूल के प्रधानाचार्य ने 12वीं क्लास के दलित छात्र की बेरहमी से पिटाई कर दीm, उसके बाद लड़के के कपड़े भी फाड़ दिए, जब छात्र ने पुलिस से शिकायत की तो उसे स्कूल से बाहर निकाल दिया गया ।

शिकायत होने के बाद थाने पर सुनवाई न होने पर पीड़ित छात्र के पिता ने उच्च अधिकारियों से शिकायत की। घटना के बाद कल बृहस्पतिवार को थाने पर कॉलेज के प्रधानाचार्य और छात्र को बुलाया गया, जहाँ देर शाम तक पंचायत चलती रही मगर कोई कार्यवाही नहीं हो रही थी । ऐसा होते देख पीड़ित ने सांसद व केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर से गुहार लगाई। 


ऐसे में सांसद कौशल किशोर की नाराजगी पर एडीसीपी दक्षिण मनीषा सिंह थाने पहुंची और उन्होंने छात्र का बयान दर्ज  कराकर प्रिंसिपल पर केस दर्ज करने का आदेश दिया। एडीसीपी के मुताबिक, कॉलेज में लगे सीसीटीवी कैमरे देखे  जा रहे है ऐसे में प्रिंसिपल के दोषी पाए जाने पर कार्रवाई किये जाने की भी बात कही।  

शिकायतकर्ता के पिता ने बताया 

एकता नगर कल्ली पश्चिम के पिता वीरेंद्र कुमार के मुताबिक, उनका बेटा शुगर का मरीज है और सेंट पीटर्स इंटर कॉलेज में पढ़ता है। 18 नवंबर को कॉलेज में डायरी न दिखाने पर स्कूल प्रिंसिपल ने उनके बेटे को बेरहमी से पीटा और उसके कपड़े फाड़ दिए थे। जब उन्होंने पुलिस से शिकायत की तो इस बात पर उनके  स्कूल से बाहर निकाल दिया था, जबकि जिस डायरी के लिए उनके बेटे को पीटा गया वह डायरी कॉलेज में ही जमा थी। उस घटना की वजह से पिछले 20 दिन से उनके बेटे की पढ़ाई चौपट है। 

प्रार्थना के दौरान किया अपमानित
छात्र के पिता ने आगे बताया कि बेटा उनके साथ ही कॉलेज गया था। प्रिंसिपल ने प्रार्थना सभा के दौरान माइक से अपमानित करते हुए कहा कि ये न तो लड़का है ओर न ही लड़की। उन्होंने बताया कि शुगर मरीज होने की वजह से उनका बेटा कई बार पेशाब करने जाता है इस बात को लेकर प्रिंसिपल ने बेटे को अपमानित किया था। ये पूरी घटना 18 नवंबर से शुरू हुई थी।