होम > राज्य > बिहार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गया पहुंच कर की गंगा उद्वह योजना की प्रगति की समीक्षा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गया पहुंच कर की गंगा उद्वह योजना की प्रगति की समीक्षा

पटना | बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार को महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल गंगा जल उद्वह योजना की प्रगति देखने नालंदा और गया पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को कई निर्देश दिए। इस योजना के तहत गंगा नदी के पानी को लिफ्ट कर राजगीर, नालंदा, नवादा और गया जिला में लाना है।

नीतीश कुमार सड़क मार्ग से पहले राजगीर फिर गया पहुंचे। राजगीर और नवादा के इलाके में इस योजना का निरीक्षण किया। इस मौके पर तमाम बड़े अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने कई निर्देश भी दिए हैं। इसके बाद वह सड़क मार्ग से ही गया के लिए रवाना हो गए।

मुख्यमंत्री गया के ऐतिहासिक सीताकुंड पहुंचे और यहां पर फल्गु नदी में निर्माणाधीन रबर डैम का जायजा लिया। साथ ही प्रस्तावित लक्ष्मण झूला के निर्माण योजना का भी जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कई निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री फल्गु नदी में बहने वाले मनसरवा नाला के प्रति काफी गंभीरता दिखाई और इसके लिए बनाए जा रहे डीपीआर में बदलाव करने का भी निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने गंगा उद्वह योजना के तहत सबसे पहले तेतर और मानपुर के अबगिला में बन रहे वाटर रिजर्व डैम के कार्यो का जायजा लिया।

उल्लेखनीय है कि गंगा उद्वह योजना मुख्यमंत्री की महत्वकांक्षी योजना मानी जाती है, जिसके तहत गंगा नदी के पानी को लिफ्ट कर राजगीर, नालंदा, नवादा और गया जिला में लाना है।

जिले के जेठीयन के समीप तेतर गांव में विशाल वाटर रिजर्व डैम बनाया जा रहा है। गया शहर को निर्वाह पेयजल उपलब्ध कराने के लिए गंगाजल संचय के लिए मानपुर के अबगिला में बड़ा वाटर रिजर्व डैम बनाया जा रहा है। यहां स्टोर किए गए गंगाजल को संशाधित करने के बाद शहरवासियों के घरों तक पहुंचाने की योजना है।

ऐतिहासिक विष्णुपद मंदिर के समीप फल्गु नदी में 270 करोड़ की लागत से रब्बर डैम का निर्माण कार्य जारी है। मुख्यमंत्री ने इस योजना का भी निरीक्षण किया।

कहा जा रहा है कि इस डैम के निर्माण हो जाने के बाद विष्णुपद मंदिर के समीप फल्गु नदी में सालों भर पानी का जमाव रहेगा, जिससे यहां पर प्रतिवर्ष आने वाले लाखों पिंडदानियों को काफी सहूलियत मिलेगी।

0Comments