होम > राज्य > दिल्ली

जानिए क्यों, राष्ट्रीय राजधानी में बिजली आपूर्ति पर भाजपा और 'आप' में खिंची तलवारें

जानिए क्यों, राष्ट्रीय राजधानी में बिजली आपूर्ति पर भाजपा और 'आप' में खिंची तलवारें

कोयले से चलने वाला एक भी पावर प्लांट नहीं, भाजपा फैला रही है अफ़वाह : सत्येंद्र जैन

24 घंटे बिजली देने की बात करने वाले केजरीवाल छिपा रहे नाकामी : नेहा शालिनी दुआ

श्री राम शॉ

नई दिल्ली। कोयले की "कमी" के चलते कथित विद्युत संकट को लेकर दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के बीच वाक् युद्ध तेज हो गया है। ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने भाजपा पर हमलावर होते हुए कहा है कि दिल्ली पड़ोसी राज्य से बिजली खरीदती है, कोयले की कमी से पड़ोसी राज्य पर्याप्त बिजली का उत्पादन नहीं कर पा रहे हैं... इसलिए बिजली की दिक्कत आ रही है, वहीँ दूसरी ओर भाजपा प्रवक्ता नेहा शालिनी दुआ ने भी आक्रामक लहजे में कहा कि 24 घंटे बिजली देने की बात करने वाले मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल अपनी नाकामी छिपा रहे हैं।

सत्येंद्र जैन ने मेधज न्यूज़ को बताया कि दिल्ली में एक भी कोयले से पॉवर प्लांट नहीं चलता है और भाजपा इस पर सिर्फ अफ़वाह फैला रही है। राष्ट्रीय तापविद्युत निगम लिमिटेड (एनटीपीसी) दिल्ली सरकार के करार के अनुसार 3500 मेगावाट बिजली देता था, लेकिन आज वह उसकी आधी यानी 1750 मेगावाट बिजली दे रहा है। दिल्ली में गैस से चलने वाले बिजली के पावर प्लांट हैं, लेकिन केंद्र सरकार ने दिल्ली को निर्धारित दर पर गैस देना बंद कर दिया है, जिसके कारण दिल्ली सरकार को बिजली उत्पादन करने के लिए मार्केट रेट पर गैस खरीदनी पड़ रही है। इसकी वजह से बिजली उत्पादन दर बढ़ चुका है। इसलिए दिल्ली में कोई भी पॉवर कट नहीं लग रहा है और दिल्ली सरकार दिल्ली के लोगों को 24 घंटे बिजली मुहैया करवा रही है।

इस पर पलटवार करते हुए नेहा ने मेधज न्यूज़ से कहा कि सत्येंद्र जैन जी ने जो भी कहा है, वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण स्टेटमेंट है। एक तरफ वह कहते हैं कि दिल्ली में बिजली का संकट छाया हुआ है। ऐसी अफवाह को केंद्रीय ऊर्जा मंत्री साफ़ इंकार कर चुके हैं कि कोयले की कोई कमी नहीं, फिर भी दिल्ली में 'आप' पार्टी इसे हवा देकर राई का पहाड़ बना रही है। 24 घंटे बिजली देने की बात करने वाले केजरीवाल जब अपने आपको इसमें फेल होता हुआ देख रहे हैं तो जानबूझकर केंद्र सरकार पर अपनी नाकामी डाल रहे हैं। दिल्लीवासियों ने पहले भी देखा जब कोरोना काल में आक्सीजन की कमी आई और कोविड मामले नहीं संभाल पाए, तब भी केजरीवाल ने केंद्र पर अपनी नाकामी का ठीकरा फोड़ा। आज बिजली नहीं दे पाएंगे तो भी केंद्र सरकार पर अपनी नाकामी का ठीकरा फोड़ रहे हैं।

जैन ने केंद्र सरकार से सवाल किया कि क्या सच में देश में कोयले की कमी है या फिर जानबूझकर बिजली की कटौती की जा रही है? इस बयान के जवाब में नेहा ने कहा कि अगर दिल्ली नहीं संभलती तो हमें दे दीजिए, पर झूठ ना फैलाएं, ये मेरी हाथ जोड़कर विनती है।

(मेधज न्यूज़ / श्री राम शॉ)


भाजपा का पलटवार, बिजली कटौती को लेकर नागरिकों को गुमराह कर रही दिल्ली सरकार




1Comments

  • Please mention my full name neha shalini dua