होम > राज्य > दिल्ली

दिल्ली के अस्पताल में मरीजों को मिलेगी राहत, अब रविवार को ओपीडी में करा सकेंगे इलाज

दिल्ली के अस्पताल में मरीजों को मिलेगी राहत, अब रविवार को ओपीडी में करा सकेंगे इलाज

नई दिल्ली| स्वास्थ्य मंत्रालय ने फैसला किया है कि रविवार से राजधानी दिल्ली के सभी केंद्र सरकार के अस्पतालों में ओपीडी सुविधा रविवार को भी जारी रहेगी। ये आदेश अक्टूबर 10 से शुरू किया जा रहा है।


इस फैसले को लागू करने के पीछे केंद्र सरकार का मुख्य मकसद है कि शहर के भीड़भाड़ वाले अस्पतालों पर बोझ कम किया जाए। हालांकि डॉक्टर्स एसोसिएशन ने इस फैसले के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया है।


नई गाइडलाइंस के साथ शहर के तीन अस्पतालों में मेडिसिन, जनरल सर्जरी, पीडियाट्रिक्स, गायनेकोलॉजी, ऑब्सटेट्रिक्स, ऑथोर्पेडिक्स, आई, ईएनटी और यूरोलॉजी और फामेर्सी जैसी स्पेशलिटीज खुलेगी।


ओपीडी रजिस्ट्रेशन का समय सुबह 8 बजे से 11.30 बजे तक होगा, जबकि ओपीडी का समय सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा।


लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के एक सर्कुलर में लिखा गया है, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देश के अनुसार, रविवार को भी अस्पतालों में आउट पेशेंट डिपार्टमेंट (ओपीडी) खोलने का निर्णय लिया गया है।


नए दिशा-निर्देशों के अनुसार रविवार को भी दवा वितरण के लिए फामेर्सी काउंटर खुला रहेगा।


सर्कुलर में कहा गया है, जांच की आवश्यकता वाले मरीजों के लिए लैब सेवाएं उपलब्ध होंगी। राम मनोहर लोहिया अस्पताल और सफदरजंग अस्पताल को एक समान परिपत्र जारी किया गया है। शहर के आरएमएल अस्पताल में शुगर और फामेर्सी सहित कुल 9 विभाग अपनी ओपीडी सेवाएं चलाएंगे।


अस्पताल ने कहा, ओपीडी रोगियों के लिए पंजीकरण प्रक्रिया सुबह 8.30 बजे से शुरू होगी और तीन घंटे तक चलेगी। सफदरजंग अस्पताल रविवार को भी अपनी ओपीडी सेवाएं चलाएगा। ओपीडी पंजीकरण का समय सुबह 8 बजे से 11.30 बजे तक होगा।


अस्पताल के ओपीडी भवन में भी फामेर्सी की सेवाएं उपलब्ध रहेंगी।


इसी तरह एम्स की मुफ्त दवा वितरण फामेर्सी की दुकान अब सभी छुट्टियों और रविवार को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक खुली रहेगी।


हालांकि, फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया मेडिकल एसोसिएशन (एफएआईएमए) ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर इस फैसले को वापस लेने के लिए कहा है। इसमें तर्क दिया गया है कि यह प्रति सप्ताह अधिकतम 48 घंटे काम करने के सुप्रीम कोर्ट के दिशानिदेशर का स्पष्ट उल्लंघन है।


एफएआईएमए के अध्यक्ष डॉ. राकेश बागड़ी ने कहा, पहले से ही बोझ से दबे डॉक्टरों को अब रविवार को भी बिना किसी अतिरिक्त भत्ते या छुट्टी के आना होगा।

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन . जानिए देश-विदेशमनोरंजनबॉलीवुडखेल जगतबिज़नेस और अपने प्रदेश, से जुड़ी खबरें।

यह भी पढ़ें- उप्र डेवलपमेण्ट फोरम ने किया मुंबई में रह रहे उप्र के लोगों को जोड़ने के लिए कार्यक्रम का आयोजन

यूपी: उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने किया प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र का उद्घाटन

उत्तर प्रदेश में कोरोना पर नियंत्रण, लेकिन प्रशासन मुस्तैद : योगी ने दिए निर्देश

0Comments