होम > राज्य > मध्यप्रदेश

650 करोड़ रुपये की लागत से 90 मेगावाट की फ्लोटिंग सौर परियोजना स्थापित करेगा एसजेवीएन

650 करोड़ रुपये की लागत से 90 मेगावाट की फ्लोटिंग सौर परियोजना स्थापित करेगा एसजेवीएन

650 करोड़ रुपये की लागत से 90 मेगावाट की फ्लोटिंग सौर परियोजना स्थापित करेगा एसजेवीएन

राज्य के स्वामित्व वाली एसजेवीएन (सतलज जल विद्युत् निगम लिमिटेड) 650 करोड़ रुपये का निवेश कर के मध्य प्रदेश के ओंकारेश्वर में 90 मेगावाट की फ्लोटिंग सौर परियोजना स्थापित करेगी। यह परियोजना दिसंबर 2023 से चालू होने की भी उम्मीद है।

कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा ने ओंकारेश्वर जलाशय में परियोजना के इंजीनियरिंग, खरीद और निर्माण (ईपीसी) कार्य शुरू करने के लिए परियोजना स्थल पर भूमिपूजन भी किया।

कंपनी के एक बयान में शर्मा के द्वारा कहा गया, "रेवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड (आरयूएमएसएल) द्वारा आयोजित एक बोली प्रक्रिया में बिल्ड ओन ऑपरेट मॉडल पर 3.26 रुपये प्रति यूनिट के टैरिफ पर यह परियोजना हासिल की गई है।"

बयान में कहा गया है कि इस परियोजना से पहले वर्ष में 196 मिलियन यूनिट का ऊर्जा उत्पादन और अगले 25 साल की अवधि में लगभग 4,570 मिलियन यूनिट की संचयी ऊर्जा उत्पादन की उम्मीद है।

एसजेवीएन ने कहा कि इस परियोजना के चालू होने पर, कार्बन उत्सर्जन में 2,23,923 टन की कमी होने की भी उम्मीद है, जो 2070 तक शुद्ध शून्य कार्बन उत्सर्जन के भारत सरकार के मिशन में एक महत्वपूर्ण योगदान साबित होगा।

यह परियोजना एसजेवीएन की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी एसजेवीएन ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एसजीईएल) द्वारा विकसित की जा रही है।