होम > राज्य

नगर निगम की लापरवाही से वर्षा का करोड़ों लीटर पानी होगा बर्बाद

नगर निगम की लापरवाही से वर्षा का करोड़ों लीटर पानी होगा बर्बाद

लुधियाना  जिले में मानसून कबका दस्तक दे चुका है, लेकिन सरकार की तरफ से अभी तक जल को बचाने के लिए एक भी योजना जमीनी स्तर पे नहीं दिख रही है। हर बार की तरह इस बार भी वर्षा के रूप में आने वाला करोड़ों लीटर शुद्ध जल सीवरेज में बहेगा जबकि इसके संरक्षण की जिम्मेदारी सीधे तौर पर नगर निगम के पास है। नगर निगम के किसी भी अधिकारी ने अभी तक जल संरक्षण की तरफ ध्यान देने की जहमत नहीं की है , अधिकारी सिर्फ मानसून से होने वाले जलभराव से बचने के उपाय करके बैठे हैं ।

हर साल भूजल स्तर कम से कम तीन फुट गहरा होता जा रहा है, मगर सरकार को इसकी बिलकुल भी चिंता नहीं है । अधिकारी कहते है कि लोग रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम के प्रति गंभीर नहीं हैं। बिल्डिंग ब्रांच को निर्देश दिए जा रहे हैं कि वह बीते कुछ सालो में बनी इमारतों को क्रास चेक करें कि उन्होंने रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम लगाया है या नहीं। जिन भी बिल्डिंग मालिक ने इस सिस्टम को नहीं लगाया है, उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।