होम > राज्य > पंजाब

कांग्रेस से खफा अमरिंदर थाम सकते हैं बीजेपी का हाथ, कर सकते हैं शाह और नड्डा से मुलाकात

कांग्रेस से खफा अमरिंदर थाम सकते हैं बीजेपी का हाथ, कर सकते हैं शाह और नड्डा से मुलाकात

चंडीगढ़ | पंजाब के सियासी समीकरण में एक बड़ा बदलाव हो सकता है।  सूत्रों के मुताबिक़ पूर्व मुख्यमन्त्री और कॉंग्रेस्सस के दिग्गज नेता अमरिंदर सिंह आज दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष  जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाक़ात कर सकते हैं। 

हालांकि, अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने भाजपा नेताओं के साथ उनकी मुलाकात से इनकार करते हुए कहा कि वह कुछ दोस्तों से मिलने के लिए निजी तौर पर दिल्ली आए हैं। ठुकराल ने ट्वीट किया, "कैप्टन अमरिंदर के दिल्ली दौरे के बारे में बहुत कुछ कहा जा रहा है। वह निजी दौरे पर हैं, इस दौरान वह कुछ दोस्तों से मिलेंगे और नए मुख्यमंत्री के लिए कपूरथला का घर भी खाली करेंगे। किसी भी तरह की अनावश्यक अटकलों की जरूरत नहीं है।"

पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में पद छोड़ने के बाद यह अमरिंदर सिंह की पहली दिल्ली यात्रा है। गौरतलब है की पंजाब में फरवरी 2022 में चुनाव होने हैं और फिलहाल कांग्रेस पार्टी को आप और अकाली दल से कड़ी टक्कर का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में अमरिंदर सिंह का पार्टी से टूट कर अलग होना एक बड़ी चुनौती बन सकता है। 

अमरिंदर सिंह की ये बैठक कई कारणों से बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि अमरिंदर सिंह ने इस्तीफ़ा देते वक़्त ये साफ़ कहा था कि उन्होंने 'अपमानित' महसूस करने के बाद ये पद छोड़ा है। साथ ही उन्होंने कहा था कि 'भविष्य की राजनीति का विकल्प हमेशा होता है' और वह उस विकल्प का इस्तेमाल करेंगे।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अमरिंदर सिंह राष्ट्रीय राजधानी पहुंच रहे हैं और सीधे शाह से मिलने जा रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

अपने इस्तीफे के बाद अमरिंदर सिंह ने कहा था कि उन्होंने तीन हफ्ते पहले पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा देने की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने उन्हें पद पर बने रहने के लिए कहा था। उन्होंने कहा, "अगर उन्होंने मुझे फोन किया होता और पद छोड़ने के लिए कहा होता, तो मैं पद छोड़ देता। उन्होंने कहा था, "एक सैनिक के रूप में, मुझे पता है कि मुझे अपना काम कैसे करना है और पद कैसे छोड़ना है।"