होम > राज्य > राजस्थान

राजस्थान में कांग्रेस के आपसी मतभेद के बीच भाजपा का मिशन 2023

राजस्थान में कांग्रेस के आपसी मतभेद के बीच भाजपा का मिशन 2023

जयपुर | राजस्थान में कांग्रेस पार्टी में आपसी कलह के बीच भाजपा अब अट्टा में वापिसी के लिए जुगत लगा रही है। भाजपा ने कुंभलगढ़ में आयोजित अपने 2 दिवसीय चिंतन शिविर में मिशन 2023 पर विचार-विमर्श किया और राजस्थान में इस धारणा को दूर करने का संकल्प लिया कि सत्ता हर पांच साल के बाद स्थानांतरित हो जाती है। 

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, "मिशन 2023 के तहत अपने एक लक्ष्य में, हम इस धारणा को समाप्त करना चाहते हैं कि राजस्थान में हर पांच साल के बाद सत्ता वैकल्पिक हाथों में चली जाती है। लोगों के आशीर्वाद से, हम इस धारणा को समाप्त करेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि भाजपा हर बार मतदान में सरकार बनाए।"

उन्होंने कहा, "संगठन मजबूत होगा और हम राजनीतिक मुद्दों पर अधिक मुखर होंगे। मुझे राजस्थान में भाजपा का भविष्य बहुत उज्‍जवल दिखाई दे रहा है, हम पुराने विश्वास को तोड़ने में सक्षम होंगे और मिशन 2023 के तहत निर्धारित योजनाओं के अनुसार सरकार बनाएंगे। सत्ता में वापसी और उसके बाद निर्वाचित रहने के लिए पार्टी कड़ी मेहनत कर रही है।"

दो दिवसीय चिंतन शिविर सोमवार और मंगलवार को भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बी.एल. संतोष के मार्गदर्शन में आयोजित किया गया है ।

पूनिया ने कहा, "हम राष्ट्रवाद के विचारों को आकार देने और 'अंत्योदय' के धरातल पर पालन करने के लिए काम करेंगे। हम अपने संगठन के महासचिव बी.एल. संतोष के मार्गदर्शन से सक्रिय हुए हैं।"

0Comments