होम > राज्य > राजस्थान

राजस्थान में COVID-19 मामले तेजी से बढ़े, स्वास्थ्य अधिकारियों ने जताई चिंता

राजस्थान में COVID-19 मामले तेजी से बढ़े, स्वास्थ्य अधिकारियों ने जताई चिंता

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में सक्रिय कोरोना (COVID-19) मामलों की संख्या बढ़कर 61 हो गई है, पिछले 24 घंटों में राज्य में कुल 17 ताजा मामले सामने आए हैं, जिनमें से 10 जयपुर से हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, जयपुर के अलावा बाड़मेर (4), अजमेर (2) और जोधपुर (1) मामला दर्ज किया गया है।अधिकारियों ने कहा कि तीन महीनों में यह पहली बार है कि राज्य की राजधानी में नए मामलों की संख्या दोहरे अंकों में है। यह आंकड़ा चिंता का विषय है क्योंकि जयपुर के सभी स्कूल और कॉलेज 15 नवंबर से शत-प्रतिशत व्यवस्था के साथ व्यक्तिगत रूप से कक्षाएं शुरू करेंगे।

साथ ही, भारत और न्यूजीलैंड के बीच एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच 17 नवंबर को SMS स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा, जहां फिर से 100 प्रतिशत लोगों को बैठने की अनुमति दी गई है। लेकिन पूरी तरह से वैक्सीनेटिड दर्शकों को ही अनुमति दी जाएगी।

इस बीच, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने बढ़ते मामलों के मद्देनजर लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन जारी रखने की चेतावनी दी है। 25 अक्टूबर को अपने एक बयान में, उन्होंने कहा था कि डेल्टा प्लस एवाय 4.2 के कई मामले भारत में भी सामने आए हैं। यह डेल्टा वैरिएंट से भी तेज फैलता है। अन्य देशों के अनुभव के आधार पर केंद्र सरकार को समय पर इसकी रोकथाम के लिए SOP तैयार कर जारी करना चाहिए।

"शुरूआत में डेल्टा वैरिएंट के कुछ ही मामले थे लेकिन इसे देश भर में फैलने में समय नहीं लगा। इस वैरिएंट के लिए पूरी तैयारी आवश्यक है ताकि डेल्टा वैरिएंट के समान अनुभव से बचा जाए।"

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने सकारात्मक टिप्पणी करते हुए कहा कि कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) के मामले में राजस्थान राष्ट्रीय औसत से काफी बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। 83 प्रतिशत लोगों को पहली खुराक दी जा चुकी है और 48.9 प्रतिशत लोगों को बीमारी के खिलाफ पूरी तरह से टीका लगाया गया है। उन्होंने कहा कि एक विशेष कार्य योजना के तहत राज्य में टीकाकरण को बढ़ावा देने के प्रयास जारी हैं, जिसमें कम टीकाकरण दर वाले जिलों में टीकाकरण शिविरों की संख्या बढ़ाना शामिल है।