होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

इटावा विज्ञान मेले में विशेष माडल के तौर 250 से अधिक बच्चों का हुआ चयन

इटावा विज्ञान मेले में विशेष माडल के तौर 250 से अधिक बच्चों का हुआ चयन

इटावा महोत्सव में विज्ञान मेले का भव्य समापन बुधवार को किया गया। दो दिनों तक चले मेले में प्रदर्शनी पंडाल में जिले भर के विभिन्न विद्यालयों के 1700 से अधिक बच्चों ने चलित व स्थिर माडल प्रस्तुत करके अपनी वैज्ञानिक क्षमताओं का प्रदर्शन किया। 250 से अधिक बच्चों का चयन किया गया। बुधवार को समापन कार्यक्रम का शुभारंभ डीआइओएस राजू राणा, एडीआइओएस डा. मुकेश यादव, संयोजक व सीबीएसई के सिटी को-आर्डिनेटर डा. आनन्द ने दीप प्रज्वलन व सरस्वती प्रतिमा पर माल्यार्पण के साथ किया।

संयोजक प्रधानाचार्य डा. आनंद ने कहा कि इस वर्ष बेसिक स्कूलों के बच्चों व शिक्षकों का प्रयास निश्चित रूप से सराहनीय रहा। इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग व जिला प्रशासन बधाई का पात्र है। क्योंकि प्राइमरी के नन्हें-मुन्ने बच्चे दूर-दराज से आकर महोत्सव के जरिये अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर पाये और निश्चित रूप से उन्होंने अपनी वैज्ञानिक प्रतिभा से सबका ध्यान खींचा।

डा. मुकेश यादव व डा. आनंद ने मुख्य अतिथि डीआइओएस राजू राणा को प्रतीक चिन्ह व शाल भेंट कर स्वागत किया। डीआइओएस राजू राणा ने कहा कि बच्चों ने वैज्ञानिक प्रतिभा का प्रदर्शन करके सभी को प्रभावित किया है।

संयोजक डा. मुकेश यादव ने सभी अतिथियों का आभार जताया। मुख्य अतिथि व संयोजक डा. आनंद ने विज्ञान मेले के निर्णायक डा. मतीन, डा. विष्णु, डा. आशीष त्रिपाठी, डा. अश्वनी कुमार को भी सम्मानित किया।

विज्ञान क्विज प्रतियोगिता में सेंट मेरी इंटर कालेज की टीम पहले स्थान पर रही। सुदिति ग्लोबल एकेडमी की टीम ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया, जबकि अर्चना मेमोरियल इंटर कालेज की टीम ने तृतीय स्थान प्राप्त किया गया। मुख्य अतिथि ने विजेता टीमों को सम्मानित किया। इस्लामिया इंटर कालेज के कक्षा नौ के छात्र अरसलान हसन के एयर कंडीशनर ट्रक के माडल को काफी सराहा गया।

अरसलान बोल और सुन नहीं सकता। ऐसे में संयोजक डा. आनन्द की ओर से अपनी माताजी की स्मृति में डीडी वेलिना एजुकेशनल ट्रस्ट द्वारा दिलावरी देवी स्मृति पुरस्कार स्वरूप 5100 रुपये का नगद पुरस्कार अरसलान हसन को दिया गया। डीआइओएस ने छात्र को सम्मानित कर उसके उज्वल भविष्य की कामना की।

दूसरे दिन भी मुख्य अतिथि ने बच्चों के माडल का निरीक्षण भी किया। इस मौके पर प्रधानाचार्य कैलाश यादव, गुफरान अहमद, संजय शर्मा, अरिस्टोटल पब्लिक स्कूल की डायरेक्टर रीता सिंह व सुदिति ग्लोबल अकेडमी औरैया की चेयरमैन नीलम आनंद, रोहन सिंह, डा. निर्मल चन्द्र बाजपेयी आदि मौजूद रहे। संयोजक डा. आनन्द ने बताया कि दो दिवसीय विज्ञान मेले में लगाए गए बच्चों के माडल में प्राथमिक विद्यालयों के 72, माध्यमिक के 106 व सीबीएसई स्कूलों के 72 बच्चों को सम्मिलित करते हुए 250 से अधिक बच्चों को विशेष माडल के तौर पर चयनित किया गया।

दो दिवसीय मेले में तकरीबन 350 माडल का चयन किया गया। साथ ही 25 कोलाज को भी चयनित किया गया है। कार्यक्रम में संत विवेकानंद के बच्चों द्वारा वर्षा जल संरक्षण, कोरोना की रोकथाम, माडल सिटी, रोबोटिक आधारित माडल प्रस्तुत किए गए जिन्हें काफी सराहना मिली। इन सभी को प्रमाण पत्र व मेडल प्रदान किए जाएंगे।

कठपुतली खेल के जरिये जागरूकता के लिए मनमोहन को सम्मानित किया गया। संचालन प्रधानाचार्य असरा अहमद ने किया। हिदू विद्यालय की छात्रा ने बनाई जीवन रक्षक छड़ विज्ञान मेले में विज्ञान माडल प्रोजेक्ट प्रतियोगिता में हिदू विद्यालय जसवंतनगर के उत्साही शिक्षक प्रदीप कुमार के मार्गदर्शन में 12 बच्चों ने प्रतिभाग किया, जिसमें विद्यालय की छात्राओं दिव्यांशी गुप्ता और वैष्णवी ने एक ऐसी छड़ का आविष्कार किया है जो रात के समय खेतों पर काम करने वाले किसानों की जीवन उपयोगी है। इस क्षण में नीचे की तरफ एक वाइब्रेटर लगाया गया है जब स्विच आन करते हैं तो वाइब्रेटर से कंपन निकलकर आसपास की जमीन को कंपन उत्पन्न कर देते हैं जिससे सांप इत्यादि दूर की तरफ भाग जाते हैं और रात के समय खेतों में पानी लगाने वाले किसानों को जान का खतरा नहीं रहता है।

इस छड़ में प्रकाश तथा दवाइयां इत्यादि रखने के लिए भी व्यवस्था की गई है। सेंट मेरी के शमिक खान व मो. हासिर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया क्विज प्रतियोगिता में सेंट मेरी इंटर कालेज के कक्षा 10 के छात्र शमिक खान व मो. हासिर ने पहला स्थान प्राप्त किया।

उन्होंने बताया कि इसकी तैयारी उन्होंने इंटरनेट से की थी। किताबों से भी खूब मन लगाकर पढ़ाई की। उन्होंने छात्रों को संदेश देते हुए कहा कि दिल लगाकर पढ़ाई करनी चाहिए। अगर मन लगाकर पढ़ाई करोगे तो कभी असफल नहीं होगे। पढ़ने की आदत डालनी चाहिए। डीआइओएस राजू राणा ने उन्हें सम्मानित किया।