होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

अखिलेश और मायावती नोएडा आने से हिचकिचाते थे, क्योंकि उनके पास विकास का कोई एजेंडा नही था

अखिलेश और मायावती नोएडा आने से हिचकिचाते थे, क्योंकि उनके पास विकास का कोई एजेंडा नही था

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती और समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि उनके पूर्ववर्ती यहां आने से हिचकिचाते हैं क्योंकि उनके पास लोगों के विकास और कल्याण के लिए कोई एजेंडा नहीं है। योगी ने कहा कि वह कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए गौतमबुद्ध नगर के दौरे पर आये हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में दिल्ली से सटे नोएडा का दौरा करना अतीत में राजनीतिक दलों के नेताओं के बीच ''अशुभ'' माना जाता था, जो मानते थे कि इस क्षेत्र का दौरा करना एक मुख्यमंत्री के लिए अपशगुन है।

मायावती ने गौतमबुद्ध नगर का दौरा किया और उनकी पार्टी 2012 में चुनाव हार गई, जबकि यादव ने 2012 से 2017 तक मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान जिले का कोई दौरा नहीं किया था। हालांकि, 2017 में एक मजबूत जनादेश के साथ मुख्यमंत्री बने योगी ने नोएडा का दौरा किया और अंधविश्वास को लेकर अपने पूर्ववर्तियों पर निशाना साधा।

योगी ने ग्रेटर नोएडा में स्थित सरकारी आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) में संवाददाता सम्मेलन में कहा, ''गौतमबुद्ध नगर आना मेरे लिए भी महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि मुझसे पहले के मुख्यमंत्री हमेशा जिले का दौरा करने से हिचकिचाते थे।'' उन्होंने कहा, ''वे डरते थे। उनका अपना जीवन और राजनीतिक शक्ति ही उनके लिए महत्वपूर्ण चीजें थीं। उनके पास राज्य के लोगों की आर्थिक समृद्धि, स्वास्थ्य और कल्याण के लिए कोई एजेंडा नहीं था और इसलिए, वे गौतमबुद्ध नगर जाने से हिचकिचाते थे।'' योगी ने कहा, ''लेकिन मुझे महामारी के दौरान गौतमबुद्ध नगर जाने के कई अवसर मिले हैं।''