होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

अखिलेश को केवल ये पता है, 'ग' से गदहा बोलना सेक्यूलर है, और 'ग' से गणेश बोलना सांप्रदायिक है

अखिलेश को केवल ये पता है, 'ग' से गदहा बोलना सेक्यूलर है, और 'ग' से गणेश बोलना सांप्रदायिक है

आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक सम्मेलन के मंच से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को जमीनी हकीकत पता नहीं। उन्हें केवल ये पता है कि ‘ग’ से गदहा बोलोगे तो सेक्यूलर हो जाओगे और ‘ग’ से गणेश बोलोगे तो सांप्रदायिक हो जाओगे।

सीएम योगी ने अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए कहा कि जो आदमी 12 बजे उठता हो 2 बजे तैयार होता हो। उसे प्रदेश के मुद्दों के बारे में क्या पता। क्या उन्होंने नहीं पता कि उनके पिता के कार्यकाल में 2-3 जनपदों में ही बिजली आती थी। सीएम योगी ने सपा पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार में किसानों को पंपिंग सेट के जरिए काम चलाना पड़ता था और पंपिंग सेट चोरी हो जाती थी। मुजफ्फरनगर का दंगा किसने कराया, क्या वो सपाई नहीं थे?

इससे पहले सेशन की शुरुआत में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में अबकी बार 300 पार। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की लहर इस बार महासुनामी में बदलेगी और इस महासुनामी में सपा, बसपा और अन्य पार्टियों का सफाया हो जाएगा। उन्होंने अपनी बात शुरू करते हुए कहा कि 19 मार्च 2017 में मैंने हमारी पार्टी की राय पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण किया था। तब से हमारी सरकार ने बिना रुके हर समाज, हर तबके के लिए कार्य किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उद्देश्य को सफल बनाने में लगे हुए हैं और प्रदेश की जनता हमारे काम से खुश है।

इससे पहले एक सम्मेलन में अखिलेश यादव ने भी बीजेपी निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि चुनाव में बीजेपी की बेचैनी दिख रही है। जनता ने समाजवादी सरकार बनाने का पूरा मन बना लिया है। जनता सपा के लोगों को दोबारा लौटाएगी। प्रदेश के लोग सपा के गठबंधन को लौटाएंगे, इसमें कोई सरप्राइज नहीं होगा। वहीं, किसानों को लेकर भी सपा प्रमुख ने बीजेपी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि ये किसानों के हक और सम्मान का चुनाव है। बीजेपी ने 700 किसानों की हत्या कराई। पहले चरण से ही बीजेपी का सफाया होगा।