होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

सहारनपुर में आज गृह मंत्री अमित शाह मां शाकंभरी देवी राज्य विश्वविद्यालय का करेंगे शिलान्यास

सहारनपुर में आज गृह मंत्री अमित शाह मां शाकंभरी देवी राज्य विश्वविद्यालय का करेंगे शिलान्यास

लखनऊ: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सहारनपुर आएंगे। जनता रोड स्थित पुंवारका में बनने वाले मां शाकंभरी देवी राज्य विश्वविद्यालय का शिलान्यास करेंगे। इसके बाद जनसभा को संबोधित करेंगे। अमित शाह के सरकारी कार्यक्रम के मुताबिक वे दोपहर साढ़े 12 बजे दिल्ली से हेलीकाप्टर से चलेंगे और 12.50 पर कार्यक्रमस्थल पर पहुंचेंगे। 12.55 पर सड़क मार्ग से शाकंभरी देवी राज्य विश्वविद्यालय निर्माणस्थल पर पुंवारका पहुंचेंगे। गृहमंत्री करीब डेढ़ घंटा यहां रुकेंगे और 2 बजकर 28 मिनट पर वापस हेलीपेड और वहां से दिल्ली के लिए रवाना होंगे। मुख्यमंत्री 11.55 बजे सरसावा एयरपोर्ट पहुंचेंगे। यहां से हेलीकाप्टर के माध्यम से कार्यक्रम स्थल पर आएंगे और गृहमंत्री की अगवानी करेंगे। इस दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहेंगे।


गंगा तथा यमुना के दोआब में बसे जनपद सहारनपुर ने उच्च शिक्षा की एक पौध लगाने का ख्वाब संजोया था। मकसद् था कि सहारनपुर में विश्वविद्यालय बनेगा तो युवा पीढ़ी को सहज उच्च शिक्षा दिलाई जा सकेगी लेकिन वर्षों बीत गए। सहारनपुर से गुजर रही यमुना से न जाने कितना पानी बह गया। कई सियासी दलों की सरकारें बनीं, लेकिन जिले में विश्वविद्यालय पर विचार तक नहीं हुआ। अब योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में वर्षों पुराना यह ख्वाब परवान चढऩे लगा।


घटेगा सीसीएसयू का बोझ


सहारनपुर में राज्य विवि की स्थापना से उच्च शिक्षा के नए द्वार ही नहीं खुलेंगे, बल्कि नौ जिलों में एक हजार कालेजों के बोझ से दबी चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी को भी राहत मिलेगी। सीसीएसयू के खाते से तीन जिलों के 27 प्रतिशत कालेज और 30 प्रतिशत छात्र नवनिर्मित विश्वविद्यालय में शिफ्ट हो जाएंगे।


विस्तार किया जाएगा


सहारनपुर मंडल के शामली, सहारनपुर और मुजफ्फरनगर में मेरठ विवि के 11 एडेड, नौ राजकीय और दो सौ सेल्फ फाइनेंस कॉलेज आते हैं। इन कालेजों में 77 हजार 342 स्टूडेंट हैं। सहारनपुर विवि के निर्माण से 77 हजार 342 स्टूडेंट सीधे तौर पर मां शाकंभरी देवी विवि में आ जाएंगे। कुलपति सम्मेलनों में पहले कई बार सहारनपुर विवि को बनाने की मांग उठी, लेकिन सहारनपुर में राज्य विवि को मंजूर नहीं कराया जा सका। वेस्ट यूपी के इन नौ महत्वपूर्ण जिलों में 1965 के बाद कोई एफिलिटिंग स्टेट यूनिवर्सिटी नहीं बनी। 1965 में आगरा विवि से काटते हुए चौ.चरण सिंह यूनिवर्सिटी (मेरठ यूनिवर्सिटी) की स्थापना की गई थी। कुछ वर्षों में पहले नोएडा में गौतमबुद्ध विवि की स्थापना हुई, लेकिन यह कैंपस विवि है।