होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

निर्माण कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी : मंत्री आशीष पटेल

निर्माण कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी : मंत्री आशीष पटेल

उत्तर प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा, उपभोक्ता संरक्षण एवं बांट माप विभाग मंत्री आशीष पटेल ने मंगलवार विधानसभा स्थित सभागार कक्ष में प्राविधिक शिक्षा विभाग में मुख्यमंत्री घोषणा, डिप्लोमा सेक्टर, डिग्री सेक्टर से सम्बन्धित समस्त निर्माण कार्यों का यथा परियोजना किस तिथि तक विभाग को हस्तान्तरित कर दी जायेगी तथा परियोजना की अद्यतन वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की समीक्षा की।

प्राविधिक शिक्षा आशीष पटेल  ने डिप्लोमा सेक्टर व डिग्री सेक्टर के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यों को निर्धारित समय में ही पूरा किया जाय। उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग कालेजों के निदेशक निर्माण कार्यों की नियमित रूप से निरीक्षण करे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यो की स्वीकृत से लेकर निर्माण कार्य की प्रगति का चार्ट तैयार कर उपलब्ध कराया जाय।

प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशीष पटेल ने कहा कि निर्माण कार्य ससमय पूर्ण हो जिससे युवाओं को उनके ही जनपद में सभी आवश्यक सुविधाओं के साथ तकनीकी शिक्षा उपलब्ध हो सके। मंत्री आशीष पटेल ने कार्यदायी संस्थाओं द्वारा विभिन्न जनपदों के इंजीनियरिंग कालेजों में कराए जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्य पूर्ण करने की तिथि निर्धारित की है। मंत्री आशीष पटेल  ने कहा कि कार्य पूर्ण करने की निर्धारित तिथि में कार्य पूरी गुणवक्ता के साथ पूरा किया जाय। उन्होंने कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग, आवास एवं विकास परिषद, उ0 प्र0 राजकीय निर्माण नि0लि0 यू0पी0 पी0सी0एल0सी0 एण्ड डी0एस0, यू0पी0 सिडको, यू0पी0 आर0एन0एस0एस0 उ0प्र0 राज्य निर्माण एवं श्रम विकास सहकारी संघ लि0 के अधिकारियों को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

बैठक में प्रमुख सचिव सुभाष चंद्र शर्मा, विशेष सचिव  अन्नावि दिनेश कुमार एवं  कृपा शंकर सिंह, निदेशक प्राविधिक शिक्षा  के. राम सहित इंजीनियरिंग कालेजों के सभी निदेशक और पॉलीटेक्निकों के प्रधानाचार्य तथा विभिन्न कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारीगण उपस्थित रहें।