होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

पी0एम0 गति शक्ति योजना के अन्तर्गत उ0प्र0 की 16 परियोजनाओं के लिए 1068.79 करोड़ रु0 की स्वीकृति

पी0एम0 गति शक्ति योजना के अन्तर्गत उ0प्र0 की 16 परियोजनाओं के लिए 1068.79 करोड़ रु0 की स्वीकृति

पी0एम0 गति शक्ति योजना के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की 16 परियोजनाओं के लिए वर्ष 2022-23 हेतु कुल 1068.79 करोड़ रुपये की स्वीकृति आज प्रदान की गई है। यह सभी परियोजनाएं गीडा, यीडा, नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा एम0एस0एम0ई0 से सम्बन्धित हैं।

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि केन्द्र सरकार के उद्योग संवर्धन और आन्तरिक व्यापार विभाग की स्टीयरिंग कमेटी की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक वार्षिक कार्ययोजना के सम्बन्ध में आहूत की गई थी।

बैठक में गीडा की 05, नोएडा की 05, यीडा की 04 और ग्रेटर नोएडा की 02 परियोजनाओं को स्वीकृति प्रदान की गई। गीडा की परियोजनाओं के तहत भीटी रावत सेक्टर-26 इण्डस्ट्रियल एरिया में गारमेण्ट पार्क हेतु 70 करोड़ रुपये, भगवानपुर नरकटहा इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर के लिए 80 करोड़ रुपये, प्लास्टिक पार्क हेतु 69.58 करोड़ रुपये, फ्लैटेड फैक्ट्री कॉम्पलेक्स हेतु 10 करोड़ रुपये तथा कॉमन एफ्लुएण्ट ट्रीटमेण्ट प्लाण्ट हेतु 05 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई।

इसी प्रकार, नोएडा हेतु परथाला चौक पर फ्लाईओवर निर्माण हेतु 56.56 करोड़ रुपये, नोएडा के बहलोलपुर गांव के पास एफ0एन0जी0 रोड पर अण्डरपास/फ्लाईओवर निर्माण हेतु 17.63 करोड़ रुपये, बरोला और भंगेल के पास एलीवेटेड रोड के निर्माण हेतु 150 करोड़ रुपये, चिल्ला रेगुलेटर के पास एलीवेटेड कॉरिडोर के निर्माण हेतु 50 करोड़ रुपये तथा नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर बॉक्स पुशिंग टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए अण्डरपास के निर्माण हेतु 7.44 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई।

यीडा के तहत औद्योगिक पार्कों (प्लास्टिक प्रोसेसिंग, ई0वी0, लेदर पार्क) के निर्माण हेतु 55.09 करोड़ रुपये, ट्वॉय पार्क के निर्माण हेतु 28.95 करोड़ रुपये, एपैरल पार्क, एम0एस0एम0ई0 पार्क तथा हैण्डीक्राफ्ट पार्क के निर्माण हेतु 128.12 करोड़ रुपये तथा मेडिकल डिवाइस पार्क की स्थापना हेतु 69.50 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई। इसके अलावा, ग्रेटर नोएडा में ईकोटेक-8 में इण्डस्ट्रियल पार्क के विकास हेतु 129.90 करोड़ रुपये तथा ईकोटेक-10 में इण्डस्ट्रियल पार्क के विकास हेतु 198.60 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई।