होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काकोरी ट्रेन एक्शन के बलिदानियों को किया नमन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काकोरी ट्रेन एक्शन के बलिदानियों को किया नमन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को काकोरी ट्रेन एक्शन के बलिदानियों को नमन किया। देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे 'आजादी का अमृत महोत्सव' के एक हिस्से के तौर पर यह कार्यक्रम आयोजित हुआ। समारोह को सम्बोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि 1857 के प्रथम स्वातंत्र्य समर की भूमि उत्तर प्रदेश रही है।

सीएम योगी ने कहा कि आज काकोरी ट्रेन एक्शन की वर्षगांठ है। 9 अगस्त 1925 को हमारे क्रांतिकारियों ने इतिहास प्रसिद्ध घटना को अंजाम दिया था। आजादी के लिए मर मिटने वाले हमारे क्रांतिकारियों ने खजाने के रूप में जा रहे 4 हजार 679 रुपये ट्रेन रोककर ले लिए थे। जब हम काकोरी की घटना की पृष्ठभूमि पर जाते हैं तो पता चलता है कि इतने रुपये के लिए अंग्रेज सरकार ने उस समय 10 लाख रुपये से अधिक खर्च किए थे। सीएम योगी ने कहा कि इस घटना को पंडित राम प्रसाद बिस्मिल के नेतृत्व में अंजाम दिया गया था जिन्हें गोरखपुर की जेल में रखा गया था। अशफ़ाक उल्ला खाँ, ठाकुर रोशन सिंह, राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी इन्हें भी गोंडा, अयोध्या (तत्कालीन फैजाबाद) और नैनी जेलों में अलग अलग स्थानों पर रखा गया था।

सीएम योगी ने कहा कि हमारे क्रांतिकारियों के बलिदान ने काकोरी जैसे स्थान को एक तीर्थ स्थल के रूप में स्थापित करते हुए लोक पूज्य बना दिया। कोई भूमि लोक पूज्य तब बनती है जब अनगिनत बलिदान होते हैं। काकोरी में भी 1925 में ऐसे ही देश की स्वाधीनता के लिए मर मिटने वाले क्रांतिकारियों ने स्वाधीनता के यज्ञ में अपनी आहूति दी थी। उन्होंने कहा कि आज यह हमारा सौभाग्य है कि काकोरी की वर्षगांठ के साथ ही देश की आजादी के अमृत महोत्सव के साथ हम सब जुड़ रहे हैं। सीएम योगी ने कहा कि प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की अलख जगाने वाली उत्तर प्रदेश की धरती वीरों से भरी है। उत्तर प्रदेश की वर्तमान पीढ़ी सौभाग्यशाली है कि यहां के मंगल पांडेय और झांसी की रानी जैसी तमाम विभूतियों ने देश की आजादी के लिए चले वृहद अभियान को नई ऊंचाई दीं। उन्होंने कहा कि चन्द्रशेखर आजाद ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ लड़ते हुए प्रयागराज में शहीद हुए, लेकिन क्रांति की यह लौ कभी बुझी नहीं। यह देश अपनी आजादी के लिए लड़ता रहा।

सीएम योगी ने कहा कि भारत की ताकत उसकी सामूहिकता है। 135 करोड़ की आबादी जब एक साथ बोलती है तो भारत सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में ही नहीं बल्कि लोकतंत्र की मां के रूप में भी दुनिया का प्रतिनिधित्व करते हुए दिखाई देता है। उन्होंने कहा कि जब हम जाति, मत, मजहब, क्षेत्र, भाषा के आधार पर बंटे हुए होंगे तो यह हमारी ताकत का विभाजन करेगा। भारत को कमजोर करेगा, विकास को बाधित करेगा, अव्यवस्था और अराजकता जैसी तमाम विकृतियों को जन्म देगा, जो फिर से देश की स्वाधीनता पर संकट खड़ा कर सकते हैं। सीएम योगी ने कहा कि हमारा सबसे बड़ा संकल्प होना चाहिए कि हम भारत को किसी भी प्रकार से कमजोर नहीं होने देंगे। भारत की एकता का संकल्प लेते हुए तमाम विकृतियों को दूर करते हुए एक साथ मिलकर काम करेंगे। उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी के संकल्प के साथ जुड़कर उत्तर प्रदेश सरकार ने भी यह तय किया है कि यूपी को आगामी 5 वर्ष के अंदर देश की एक बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित करेंगे।

सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर व्यवसाय की सुगमता ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लक्ष्य को प्राप्त करते हुए प्रत्येक नागरिक के जीवन को सहज और सरल बनाने में हम लोग अपना योगदान देंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के नौजवानों, किसानों, महिलाओं और समाज के प्रत्येक तबके के लिए हम उस प्रकार की योजनाओं को लेकर काम करेंगे जो उत्तर प्रदेश को पहचान तो देगा ही साथ ही यहां के प्रत्येक नागरिक को सम्मान भी देगा। सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सामने एक लक्ष्य रखा है, आज जब देश अपनी आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है तो अभी से हमें 25 वर्ष यानी जब देश अपनी आजादी का शताब्दी वर्ष मना रहा होगा, तो उस समय हमें कैसा भारत चाहिए इसकी व्यापक कार्ययोजना बनाकर देश के सामने रखें। उन्होंने लोगों से आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम से जुड़ने की अपील की।

# lucknow-city-politics # news # state # Kakori Train Action Anniversary # CM Yogi Adityanath # Tribute To Martyrs # Azadi Ka Amrit Mahotsav