होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

उत्तर प्रदेश मत्स्य जीवी सहकारी संघ द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन

उत्तर प्रदेश मत्स्य जीवी सहकारी संघ द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन

उत्तर प्रदेश मत्स्य जीवी सहकारी संघ लि० लखनऊ की सदस्य समितियां/ जिला सहकारी संघ के अध्यक्ष/सचिव एवं सदस्यों हेतु क्षमता संवर्धन पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर कैबिनेट मंत्री (मत्स्य विभाग) उ०प्र० डॉ संजय कुमार निषाद प्रशिक्षण कार्य्रकम में 28 प्रतिभागियों को ट्रैनिंग प्रमाण पत्र देकर सम्मनित किया। 

इस अवसर पर  मंत्री डॉ संजय कुमार निषाद  ने संघ को ओर प्रतिष्ठान के कार्मिकों को बधाई देते हुए कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम लगातार चलते रहने चाहिए और इसको नियमित रूप से चलाये जाने और समितियों को प्रशिक्षण देने हेतु भी निर्देश दिए।

मंत्री डॉ संजय कुमार निषाद ने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि वह समिति द्वारा प्राप्त ज्ञापन पत्र में मत्स्य पालन को कृषि का दर्जा दिए जाने, बड़े तालाबो के लगान छोटे तालाबो के लगान की दर पर दिए जाने, तालाबो के बंधा निर्माण/सुधार जेसीबी मशीन से किये जाने पर रोक, तालाबो के सम्पूर्ण क्षेत्रफल के सीमांकन समेत कई मुद्दो के संबंध में राजस्व मंत्री से विचार विमर्श करेंगे। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में लगातार मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना, मुख्यमंत्री मत्स्य संपदा योजना और निषाद राज बोट योजना को लगातार जमीनी स्तर पर लागू कर रही है और मोनिटरिंग भी कर रही है।

मंत्री डॉ संजय कुमार निषाद ने बताया कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत 16 हजार लोगों को 250 करोड़ रुपये का अनुदान देकर लाभांवित किया जाएगा। माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी की मंशानुसार महिला उत्थान और एससी/एसटी वर्ग को 60 फीसदी अनुदान दिया जाएगा और सामान्य वर्ग को 40 फीसदी अनुदान देकर लाभांवित किया जाएगा। 

मंत्री डॉ संजय कुमार निषाद ने कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लाभ केवल धनी वर्ग के लिए नही है, किन्तु इसके विपरीत गाँव के गरीब के लिए योजनाए बनाई गई और लाभ देने के लिए गरीब मछुआ परिवार के लिए निशुल्क मछुआ बीमा योजना लागू की गई है।

इस अवसर पर उत्तरप्रदेश मत्स्य जीवी सहकारी समिति की चेयरमैन  वीरू साहनी, मोनिशा सिंह, प्रबंध निदेशक, उत्तर प्रदेश मत्स्य जीवी सहकारी संघ लि० लखनऊ मौजूद रहे।