होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

यूपी में पहली बार होगी मुख्य खनिजों की ई-नीलामी

यूपी में पहली बार होगी मुख्य खनिजों की ई-नीलामी

मंत्रिपरिषद ने प्रदेश में मुख्य खनिजों के अन्वेषित ब्लॉकों को ई-नीलामी के आधार पर परिहार पर व्यवस्थित करने हेतु एसबीआई कैपिटल मार्केट लिमिटेड को ट्रान्जेक्शन एडवाइजर तथा ई-ऑक्शन प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराने हेतु एमएसटीसी लिमिटेड को 02 वर्ष के लिए नामित किये जाने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है। प्रदेश में पहली बार मुख्य खनिजों की ई-नीलामी की कार्यवाही प्रारम्भ की जा रही है।


ज्ञातव्य है कि प्रदेश के जनपद सोनभद्र एवं ललितपुर में भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण द्वारा मुख्य खनिजों के 05 ब्लॉक तथा भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग द्वारा मुख्य खनिजों के 04 ब्लॉक अन्वेषित किये गये हैं। इसके अलावा, खान मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 06 सितम्बर, 2021 को आयोजित कार्यक्रम में भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण द्वारा अन्वेषित 03 खनिज ब्लॉक की अन्वेषण रिपोर्ट उपलब्ध करायी गयी।


 इस प्रकार प्रदेश में मुख्य खनिज के 12 ब्लॉक उपलब्ध हैं। इन अन्वेषित 12 ब्लॉकों में मुख्य रूप से रॉक फॉस्फेट, एण्डालूसाइट, स्वर्ण, ग्लूकोनाइट (पोटास), लौह अयस्क के रूप में पाया गया है। उक्त खनिजों को ई-ऑक्शन के माध्यम से परिहार पर व्यवस्थित किया जाना है। इन 12 ब्लॉकों में से 05 ब्लॉक एण्डालूसाइट के और 01 ब्लॉक प्लेटिनम समूह के धातुओं के अयस्क से सम्बन्धित हैं।

 

इस निर्णय द्वारा मुख्य खनिजों की उपलब्धता सुनिश्चित होने से राजस्व में वृद्धि के साथ-साथ उर्वरक आदि उद्योगों को प्रोत्साहन मिलेगा। खनन संक्रिया तथा अन्वेषित खनिजों से सम्बन्धित उद्योगों में जनसामान्य को रोजगार के अवसर सुलभ हो सकेंगे।