होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

उत्तर प्रदेश में अब हर महीने लगेगा रोजगार मेला

उत्तर प्रदेश में अब हर महीने लगेगा रोजगार मेला

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को पूरा करने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने हर हाथ को काम देने का संकल्प लिया है। इसके तहत ही तय किया गया है कि सेवायोजना विभाग उत्तर प्रदेश के सभी 18 मंडल मुख्यालयों पर प्रति माह रोजगार मेला आयोजित करेगा।

औद्योगिक क्षेत्र की विशिष्टता के आधार पर जनपद गौतमबुद्धनगर जनपद गाजियाबाद में हर महीने में एक-एक वृहद रोजगार मेला आयोजित करने का लक्ष्य रखा गया है। इस रोजगार मेले में समस्त रोजगार/स्वरोजगार सृजन करने वाले विभागों के प्रतिभाग करने से, एक ही स्थल पर बेरोजगार युवाओं को एक ओर जहां अधिक रोजगार/स्वरोजगार के अवसर मिल सकेंगे, वहीं दूसरी ओर विभागों की योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार भी हो सकेगा। इस सम्बन्ध में अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त की अध्यक्षता में लोक भवन में उत्तर प्रदेश कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग की कार्यकारी परिषद/बोर्ड की बैठक सम्पन्न हुई।

बैठक में मिशन रोजगार के पर्यवेक्षण हेतु हर महीने सम्बन्धित विभागों के नोडल अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक किये जाने का निर्णय लिया गया है। शासकीय विभागों एवं उनके अधीनस्थ संस्थानों में आउटसोर्सिंग ऑफ मैनपावर की व्यवस्था तथा सेवायोजन विभाग द्वारा आयोजित किए जाने वाले रोजगार मेलों में रोजगार/स्वरोजगार उपलब्ध कराने वाले विभागों के सहयोग के सम्बन्ध सहित श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों हेतु संचालित कल्याणकारी योजनाओं के सम्बन्ध में विचार-विमर्श किया गया।

मिशन रोजगार अभियान के द्वारा रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है तथा अप्रेण्टिसशिप के माध्यम से रोजगार स्वरोजगार के विशेष अवसर भी सृजित किए जा रहे हैं। मिशन रोजगार के अन्तर्गत प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों, संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं, निगमों, परिषदों, बोर्डों तथा प्रदेश सरकार के विभिन्न स्थानीय निकायों, जिनमें विभिन्न प्राधिकरण तथा औद्योगिक विकास प्राधिकरणों के माध्यम से समन्वित रूप से युवाओं हेतु रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण तथा अप्रेण्टिस के माध्यम से अधिक से अधिक रोजगार/स्वरोजगार के अवसर सृजित किए जा रहे हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि प्रत्येक कार्यालय में एक रोजगार हेल्प डेस्क बनाकर सम्बन्धित विभाग द्वारा रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण तथा अप्रेण्टिस के माध्यम से इससे जुड़े कार्यक्रमों का विवरण उपलब्ध कराया जाएगा। प्रशासनिक विभागों के अन्तर्गत समस्त निदेशालय/निगम/बोर्ड/आयोग इत्यादि अपने सम्बन्धित विभाग हेतु एक नोडल अधिकारी नामित किया जाएगा। इनके माध्यम से सेवायोजन पोर्टल पर उपलब्ध प्रारूपों पर अपनी सूचना उपलब्ध करायी जाएगी।

उत्तर प्रदेश के शासकीय विभागों एवं उसके अधीनस्थ संस्थाओं में मैन पावर के क्रय (आउटसोर्सिंग ऑफ मैनपावर) हेतु सेवायोजन विभाग द्वारा संचालित सेवायोजन पोर्टल sewayojan.up.nic.in पर उपलब्ध कार्मिकों में से वरिष्ठता के स्थान पर अब केवल कम्प्यूटर द्वारा रैण्डम आधार पर ही कार्मिक लिए जाएंगे। इससे आउटसोर्सिंग कार्मिकों के चयन में इच्छुक अभ्यर्थियों को आवेदन करने की अन्तिम तिथि तक आवेदन के अवसर का लाभ मिल सकेगा एवं चयन प्रक्रिया की व्यवस्था अधिक से अधिक पारदर्शी हो सकेगी।