होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

HIV से ग्रसित व्यक्तियों को मुफ्त औषधि, AIDS के प्रति भेदभाव रहित समाज निर्माण का लक्ष्य

HIV से ग्रसित व्यक्तियों को मुफ्त औषधि, AIDS के प्रति भेदभाव रहित समाज निर्माण का लक्ष्य

लखनऊ: उत्तर प्रदेश राज्य एड्स नियन्त्रण सोसाइटी द्वारा विश्व एड्स दिवस के अवसर पर राज्य स्तर ‘‘असमानता, एड्स और महामारियों का अन्त’’ थीम पर आधारित विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया। आम जनमानस को एच.आई.वी. के विषय में जागरूकता प्रदान किये जाने हेतु शहर के प्रमुख स्थलों पर होर्डिंग/बैनर डिस्प्ले के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया गया। इसके अतिरिक्त आम जन मानस को एच.आई.वी./एड्स विषयों पर जानकारी प्रदान किये जाने हेतु प्रदेश के विभिन्न एफ.एम. चैनलों के माध्यम से जागरूक किया गया। परियोजना निदेशक, उत्तर प्रदेश राज्य एड्स नियन्त्रण सोसाइटी, अनीता सी. मेश्राम ने यह जानकारी देते हुए बताया कि एच.आई.वी. संक्रमण के साथ जी रहे लोगों को मुख्य धारा में लाने के लिए उन्हें शिक्षा, रोजगार, कार्यक्षेत्र आदि क्षेत्र में हर जगह सम्मान दिया जाये।  

अनीता सी. मेश्राम ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश के संचालित 50 ए.आर.टी. केन्द्रों में 93238 एच.आई.वी. से ग्रसित व्यक्तियों की ए.आर.टी. की मुफ्त औषधि प्रदान की जा रही है। 93238 एच.आई.वी. से ग्रसित व्यक्तियों में से 46315 पुरूष, 40230 महिलाएं, 245 ट्रांन्स कम्यूनिटी तथा 6448 बच्चे सम्मिलित हैं। उत्तर प्रदेश राज्य एड्स नियन्त्रण सोसाइटी द्वारा आज विश्व एड्स दिवस के अवसर पर लोक कला दलों के माध्यम सें लखनऊ जनपद के प्रमख स्थलों क्रमशः चौक चौराहा, क्लॉक टावर, हजरतगंज मेट्रो स्टेशन, चारबाग मेट्रो स्टेशन, 1090 चौराहा, जनेश्वर मिश्र पार्क, पिकप भवन, आलमबाग मेट्रो स्टेशन, बालागंज जल निगम, सदर रोड, बर्लिंगटन चौराहा, कैसरबाग चौराहा, नक्खास चौराहा, पॉलीटेकनिक चौराहा, पुरनिया चौराहा, अलीगंज कपूरथला, पत्रकारपुरम, लेखराज, मुंशिपुलिया, मेडीकल कालेज, लोहिया अस्पताल, राजाजीपुरम बस स्टैण्ड, दुबग्गा पर नुक्कड़ नाटक और जादू के माध्यम से लोगों को एचआई.वी. /एड्स के प्रति जागरूक किया गया। 

जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत सोसाइटी के समस्त संयुक्त निदेशक, उप निदेशक, सहायक निदेशक एवं अन्य सहयोगी संस्थाओं के प्रतिनिधियों द्वारा कार्यक्रम संचालन किया गया एवं एच.आई.वी./एड्स के प्रति भेदभाव रहित समाज निर्माण में सहयोग प्रदान करने के लिए आम जनमानस को जागरूक किया गया।