होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

अति पिछड़े विकास खंडों के कायाकल्प के लिए IIT के छात्रों की ली जाए मदद: योगी आदित्यनाथ

अति पिछड़े विकास खंडों के कायाकल्प के लिए IIT के छात्रों की ली जाए मदद: योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि राज्य में आकांक्षात्मक जिलों की तर्ज पर विकसित किए जा रहे सौ विकास खंडों की मानीटरिंग और आंकलन के लिए आईआईटी कानपुर और आईआईएम लखनऊ के छात्रों की मदद ली जाए। उन्होंने प्राविधिक व तकनीकी विश्वविद्यालयों , संस्थानों के छात्रों को भी इसमें जोड़ने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री बुधवार को प्रदेश के सौ आकांक्षात्मक विकास खंडों को विकसित किए जाने की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिए कि आकांक्षात्मक विकास खंडों में तैनात होने वाले ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर (बीडीओ) को अन्यत्र किसी और ब्लॉक का अतिरिक्त प्रभार न दिया जाए । इन क्षेत्रों में अपेक्षाकृत युवा ऊर्जावान और विजनरी अधिकारियों की तैनाती की जानी चाहिए।

 सीएम ने कहा कि आकांक्षात्मक जिलों की तर्ज पर ही 100 आकांक्षात्मक विकासखंडों का चयन कर इनके सामाजिक आर्थिक सुधार लिए विशिष्ट प्रयास किए जा रहे हैं। के स्वास्थ्य और पोषण , शिक्षा , कृषि और जल संसाधन , वित्तीय समावेशन कौशल विकास और आधारभूत संरचना के विविध मानकों पर इन आकांक्षात्मक विकासखंडों के समग्र विकास के प्रयास किए जाएं। विकास इंडिकेटर में बीसी सखी , ग्राम सचिवालय , अमृत सरोवर जैसे दूरगामी प्रयासों को भी शामिल किया जाए।