होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

कृषि निवेश योजनान्तर्गत उच्चकोटि के उर्वरक, बीज उपलब्ध कराने से फसलोत्पादन में हुई बढ़ोत्तरी

कृषि निवेश योजनान्तर्गत उच्चकोटि के उर्वरक, बीज उपलब्ध कराने से फसलोत्पादन में हुई बढ़ोत्तरी

लखनऊ: किसानों की आय दोगुना करने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार किसानों की हर आवश्यकता की पूर्ति कर रही है। सरकार कृषि यंत्रों, सिंचाई, खाद-बीज आदि की सुविधा उपलब्ध कराते हुए फसलोत्पादन में बढ़ोत्तरी करा रही है। सहकारी कृषि-निवेश योजना प्रदेश सरकार की एक अत्यन्त महत्वपूर्ण योजना है। इस योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को सदस्य बनाकर उनकी आवश्यकता के अनुरूप उच्चकोटि के कृषि-निवेश यथा उर्वरक, प्रमाणित बीज उपलब्ध कराये जाते हैं। वर्ष 2017-18 में उर्वरक वितरण का कुल लक्ष्य 3140755 मै0टन, निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष उर्वरकों का वितरण 324447 मै0टन हुआ जो लक्ष्य का 103.29 प्रतिशत है। इसी प्रकार प्रमाणित बीज का कुल लक्ष्य 127975 कुन्तल निर्धारित था। पीसीएफ द्वारा 83667 कुन्तल बीज उपलब्ध कराया गया। उपलब्धता के सापेक्ष 82949 कुन्तल बीज का वितरण सहकारी समितियों के माध्यम से कृषकों में हुआ।

वर्ष 2018-19 में उर्वरक वितरण का कुल लक्ष्य 2968019 मै0टन निर्धारित था। लक्ष्य के सापेक्ष प्रदेश के किसानों को 3372545 मै0टन उर्वरकों का वितरण हुआ, जो लक्ष्य का 113.62 प्रतिशत है। इसी प्रकार प्रमाणित बीज का कुल लक्ष्य 82100 कुन्तल निर्धारित था। पीसीएफ द्वारा 70591 कुन्तल बीज उपलब्ध कराया गया। उपलब्धता के सापेक्ष 70591 कुन्तल बीज का शत-प्रतिशत वितरण सहकारी समितियों के माध्यम से कृषकों में किया गया। वर्ष 2019-20 में उर्वरक के वितरण का कुल लक्ष्य 3112633 मै0टन निर्धारित था। निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष उर्वरकों का वितरण 3773809 मै0टन किया गया जो लक्ष्य का 121.24 प्रतिशत रहा। इसी प्रकार प्रमाणित बीज का कुल लक्ष्य 102100 कुन्तल निर्धारित तथा पीसीएफ द्वारा 58652 कुन्तल बीज उपलब्ध कराया गया। उपलब्धता के सापेक्ष 58652 कुन्तल बीज का शत-प्रतिशत वितरण सहकारी समितियों के माध्यम से कृषकों को किया गया।

वर्ष 2020-21 में खरीफ का उर्वरक वितरण का कुल लक्ष्य 1290105 मै0टन निर्धारित था। निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष खरीफ अभियान में उर्वरकों का वितरण 1846612 टन हुआ जो लक्ष्य का 143 प्रतिशत है। इसी प्रकार वर्ष 2020-21 में रबी अभियान में उर्वरक वितरण का क्रमिक लक्ष्य 2005484 मै0टन, निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष रबी अभियान में उर्वरकों का वितरण 1882558 मै0टन हुआ जो लक्ष्य का 94 प्रतिशत है। इसी प्रकार प्रमाणित बीज का कुल निर्धारित लक्ष्य 97200 कुन्तल के सापेक्ष पीसीएफ द्वारा 71198 कुन्तल बीज उपलब्ध कराया गया। उपलब्धता के सापेक्ष बीज का शत-प्रतिशत वितरण सहकारी समितियों के माध्यम से कृषकों में किया गया है।

वर्ष 2021-22 के खरीफ अभियान में उर्वरक वितरण का कुल लक्ष्य 1362623 मै0टन निर्धारित है। निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष खरीफ अभियान में उर्वरकों का वितरण लक्ष्य का लगभग 90 प्रतिशत है तथा प्रमाणित बीज का कुल निर्धारित लक्ष्य 2000 कुन्तल के सापेक्ष पीसीएफ द्वारा उपलब्धता के सापेक्ष बीज का शतप्रतिशत विवरण सहकारी समितियों के माध्यम से कृषकों में हुआ। रबी अभियान वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत 7.71 लाख मै0टन फॉस्फेटिक उर्वरक के लक्ष्य के सापेक्ष सहकारी क्षेत्र में 6.86 लाख मै0टन फॉस्फेटिक उर्वरक की उपलब्धता सुनिश्चित करायी गयी है। इफको द्वारा रबी अभियान में 3.20 लाख मै0टन फॉस्फेटिक उर्वरक उपलब्ध कराया गया है। रबी अभियान में यूरिया का लक्ष्य 12.33 लाख मै0टन के सापेक्ष 6.11 लाख मै0टन की 25 नवम्बर, 2021 तक उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है।

फसलोत्पादन में किसी प्रकार की समस्या न आये, उन्हें आवश्यक उर्वरक की व्यवस्था सरकार द्वारा सुनिश्चित की जा रही है। सहकारिता विभाग द्वारा प्रदेश के किसानों को कृषि निवेश योजनान्तर्गत उच्चकोटि के उर्वरक, बीज उपलब्ध कराने से फसलोत्पादन में बढ़ोत्तरी हो रही है।