होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

आइये जाने लखनऊ में कितने पाए गये नए डेंगू पॉजिटिव रोगी

आइये जाने लखनऊ  में कितने पाए गये नए डेंगू पॉजिटिव रोगी

आज दिनांक 30.11.2022 को जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में 37 डेंगू पॉजिटिव रोगी पाए गये। इसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के तहत रेडक्रास-04, चन्दरनगर-05, ऐशबाग-04,  इन्दिरानगर-05, एन0के0 रोड-04, सिल्वर जुबली-05, अलीगंज-05, टूडियागंज-05 में केस पाए गए। आज लगभग 3728 घरों एवं आस-पास मच्छरजनित स्थितियों का सर्वेक्षण किया गया और कुल “18” घरों में मच्छरजनित स्थितियां पाए जाने पर नोटिस जारी किया गया। 

इसके अतिरिक्त नगर मलेरिया इकाई एवं जिला मलेरिया अधिकारी की टीमों द्वारा जनपद के विभिन्न स्थलों/भवनों का निरीक्षण किया गया तथा लार्वा रोधी रसायन का छिडकाव किया गया। 

क्षेत्रीय जनता को घर के आस-पास पानी जमा न होने, पानी से भरे हुए बर्तन एवं टंकियों को ढंक कर रखें, हर सप्ताह कूलर के पानी को खाली करके साफ़ कपड़े से पोछ कर सूखा एवं साफ़ करने के बाद ही पुनः प्रयोग में लाने, पूरी बांह के कपड़े पहनने, बच्चों को घर से बाहर न निकलने, मच्छर रोधी क्रीम लगाने एवं मच्छरदानी में रहने तथा डेंगू एवं मच्छर जनित रोगों से बचाव हेतु “क्या करें, क्या न करें” सम्बंधित स्वास्थ्य शिक्षा प्रदान की गयी।

मच्छरों की ब्रीडिंग रोकने के उपाय

* वाटर टैंक व कंटेनरों को ढक कर रखे, घर के अंदर व आसपास पानी को जमा न होने दे।
* अनावश्यक कन्टेनर, कबाड़, टायर व नारियल के खोल में पानी जमा न होने दे। तत्काल उसका निस्तारण सुनिश्चित करे। 
* प्रत्येक सप्ताह कूलर का पानी बदले, कूलर आदि में ज़्यादा दिनों तक पानी जमा न होने दे। 
* घरो और होटल के वाटर टैंक में लार्वीवोरस फिश का उपयोग करे।
* बर्ड बाथ, फूलदान आदि में प्रत्येक सप्ताह पानी बदले।

स्वयं बचाव के उपाय

* सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करे। 
* दिन के समय मच्छरों के काटने से बचने के लिए फुल सिलिव्स के कपड़े पहने बुखार आने पर चिकित्सक की सलाह पर दवा का उपयोग करे।

क्या न करे- 

* घर मे या घर के आस पास कूलर, बाल्टी, बैरल, फूलदान, बर्ड बाथ, फ्रीज़, टायर व नारियल के खोल में पानी जमा न होने दे।
* टूटे बर्तन, अनुपयोगी बोतल, टिन, पुराने टायर, और कबाड़ को घर मे न जमा होने दे और न ही घर के पास उन्हें फेके। उक्त चीज़ों का उचित निस्तारण सुनिश्चित कराए ताकि उसमे

मच्छरों की ब्रीडिंग न हो पाए।

* बुखार होने पर स्वंय से दवा न करे, चिकित्सक के परामर्श के उपरान्त ही दवा का उपयोग करें।