होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

कराह रहे हैं प्रयागराज में विकास को बंधक बनाने वाले माफिया: सीएम योगी

कराह रहे हैं प्रयागराज में विकास को बंधक बनाने वाले माफिया: सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि डबल इंजन की भाजपा सरकार में किसी गरीब, व्यापारी, बेटी और युवा के हितों के साथ खिलवाड़ संभव नहीं है। वर्षों तक जो माफिया प्रयागराज के विकास में बैरियर बने रहे, गरीबों के जमीन पर अवैध कब्जे करते रहे, जिन्होंने युवाओं के साथ छल किया, आज सरकार की जीरो टॉलरेंस वाली नीति की सख्त कार्रवाई से कराह रहे हैं। माफिया के अवैध कब्जे से मुक्त कराई गई भूमि पर आज प्रयागराज में गरीबों के लिए मकान बन रहे हैं। आगे भी किसी ने ऐसा दुस्साहस करने की कोशिश की तो उससे अवैध कब्जा तो छुड़ाया जाएगा ही, माफिया की संपत्ति पर गरीबों के लिए ही घर बनाएंगे।

गुरुवार को संगमनगरी में प्रबुद्धजन सम्मेलन में विभिन्न वर्गों से संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने प्रयागराज के विकास के लिए सभी से सुझाव भी मांगे। प्रयागराज के विकास के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए मुख्यमंत्री योगी ने खास मौके पर प्रयागराज को ₹1295 करोड़ की विभिन्न परियोजनाओं का उपहार भी दिया। इनमें ₹325.16 करोड़ की 35 परियोजनाओं का लोकार्पण हुआ जबकि ₹969.57 करोड़ की 249 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया।

प्रबुद्धजन सम्मेलन में प्रयागराज की पावन भूमि को नमन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयागराज धर्म, शिक्षा तथा न्याय की नगरी है। तीर्थराज प्रयाग सम्पूर्ण भारत की आस्था का प्रतिमान है। द्वादश माधव, गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम, लेटे हुए हनुमान जी इसे तीर्थों में सबसे महत्वपूर्ण बनाते हैं। प्रयागराज कुंभ 2019 का जिक्र करते हुए सीएम योगी ने कहा कि जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए कुंभ से पूर्व अक्टूबर, 2018 में हमें इस जनपद को इसका पुराना नाम 'प्रयागराज' देने का गौरव मिला। इससे प्रयागराज की वैदिक व पौराणिक पहचान को पुनः ख्याति मिली। हालिया विधानसभा चुनाव में प्रयागराजवासियों से मिले अपार समर्थन के प्रति आभार जताते हुए सीएम योगी ने कहा कि उस जन विश्वास का ही परिणाम है कि आज प्रयागराज में हर गरीब को घर मिल रहा है, गरीबों के घर निःशुल्क बिजली कनेक्शन है, रसोई गैस है। कोरोना काल की चुनौतियों की याद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि एक समय हमें प्रयागराज से 15,000 युवाओं को उनके घर पहुंचाना पड़ा था। तब हमने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले युवाओं और उनके अभिभावकों की सुविधा के लिए 'अभ्युदय' योजना शुरू की और आज यह योजना हर जिले में चल रही है।

अभूतपूर्व होगा प्रयागराज कुंभ 2025

प्रबुद्धजनों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'पंच प्रण' की चर्चा करते मुख्यमंत्री ने आजादी के अमृत काल मे इन संकल्पों की पूर्ति में योगदान का आह्वान भी किया। वहीं प्रयागराज कुंभ 2025 को अभूतपूर्व आयोजन बनाने के लिए सहयोग भी मांगा। सीएम योगी ने कहा कि वर्ष 2019 में प्रयागराज में पवित्र त्रिवेणी संगम पर 'दिव्य एवं भव्य कुंभ' आयोजित हुआ था। इतने विशाल मेले को सुरक्षा एवं स्वच्छता के साथ सकुशल सम्पन्न किया जाना अपने में एक कीर्तिमान था। इस आयोजन ने स्वच्छता, सुरक्षा और सुव्यवस्था के मानक स्थापित किए थे। यह आयोजन नेतृत्व क्षमता व पब्लिक मैनेजमेन्ट का आदर्श उदाहरण बना। अब 2025 कुंभ के लिए प्रयागराज तैयार हो रहा है। स्मार्ट सिटी योजना के तहत चयनित प्रयागराज में आधुनिक नगरीय सुविधाएं उपलब्ध हो रही हैं। प्रयागराज 'ईज़ ऑफ लिविंग' के पैमाने में शानदार हो रहा है। सम्मेलन में उपमुख्यमंत्री द्वय और कैबिनेट मंत्री नन्दगोपाल नंदी सहित अनेक गणमान्य जनों ने भी अपने विचार रखे।

लोकार्पित प्रमुख परियोजनाएं

● नगर निगम प्रयागराज के सीवरेज डिस्ट्रिक्ट-जी एवं ई पार्ट-2 में घरेलू सीवर गृह संयोजन योजना (लागत ₹56.43 करोड़)

● क्षेत्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला, फाफामऊ (लागत ₹41.09 करोड़ )

● जिला कारागार, नैनी (लागत 173.33 करोड़ रुपये) राजकीय इण्टर कॉलेज, कोरांव (लागत ₹2.77 करोड़ )

● राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्र, नैनी में ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (लागत ₹6.38 करोड़ )

● राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, सोरांव (लागत ₹7.21 करोड़)

● चिकित्सा महाविद्यालय, प्रयागराज के कैम्पस में अतिरिक्त महिला छात्रावास ( लागत ₹2.19 करोड़ ) 

● पशु चिकित्सा पॉलीक्लीनिक, कांटी। (लागत ₹6.49 करोड़ )

● जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास कार्यालय, प्रयागराज । (लागत ₹2.88 करोड़)

● समाज कल्याण विभाग के अन्तर्गत ग्राम खाईपार में आवासीय भवन एटीएस (लागत ₹2.77 करोड़ )

● ग्राम रेरा में मिनी स्टेडियम (लागत ₹4.93 करोड़ )

● जल निगम (ग्रामीण) की 04 पाइप्ड पेयजल योजनाएं (कुल लागत ₹9.65 करोड़ )

● ग्रामीण अभियंत्रण विभाग की सीसी रोड, इण्टरलॉकिंग, नाली निर्माण की 15 परियोजनाएं (कुल लागत ₹2.37 करोड़ )

● लोक निर्माण विभाग की 05 सम्पर्क मार्ग परियोजनाएं (कुल लागत ₹7.66 करोड़ )

शिलान्यास की गई प्रमुख परियोजनाएं

●जल निगम (ग्रामीण) की 243 पाइप्ड पेयजल योजनाएं । (कुल लागत ₹882.17 करोड़ )

● प्रयागराज-वाराणसी मार्ग पर जगतपुर के निकट रेल सम्पार संख्या - 60 स्पेशल पर 4-लेन रेल उपरिगामी सेतु । (लागत ₹66.68 करोड़)

● लोक निर्माण विभाग की सम्पर्क मार्ग की 04 परियोजनाएं (कुल लागत ₹11.89 करोड़)

● राजकीय यूनानी मेडिकल कॉलेज एवं चिकित्सालय, प्रयागराज में स्टाफ हेतु आवासों का निर्माण (लागत ₹8.83 करोड़)