होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

सौगातों की झड़ी में अब बलरामपुर का नम्बर, प्रधानमंत्री मोदी देंगे बड़ी सौगात

सौगातों की झड़ी में अब बलरामपुर का नम्बर, प्रधानमंत्री मोदी देंगे बड़ी सौगात

आगामी 11 दिसंबर को बलरामपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम प्रस्तावित है। जिसकी तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। वहीं, इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री 9802 करोड़ रुपये की सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का लोकार्पण करेंगे। कार्यक्रम के दौरान किसी भी तरह की समस्या न हो, इसके लिए शीर्ष अधिकारियों से लेकर सूबे के मंत्रियों तक को लगाया गया है। मंत्री लगातार कार्यक्रम स्थल का दौरा कर तैयारियों का जायजा ले रहे हैं। साथ ही अधिकारियों और आयोजकों को जरूरी दिशा-निर्देश भी दे रहे हैं। वहीं, इस बाबत गुरुवार को यानी कल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी बलरामपुर आएंगे और 11 दिसंबर को होने वाले प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को लेकर आज तैयारियों का जायजा लेने के लिए सूबे के जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह, होमगार्ड सैनिक कल्याण राज्यमंत्री पलटूराम व राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख बलरामपुर पहुंचे, जहां सभी मंत्रियों ने अधिकारियों के साथ कार्यक्रम स्थल हसुआडोल में बन रहे भव्य पंडाल का निरीक्षण किया। उन्होंने कार्यक्रम में आने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं व आम जनमानस के लिए लग रही, कुर्सियों तथा सुरक्षा के लिए बनाई जा रही बैरीकेटिंग का भी जायजा लिया।

बलरामपुर में पीएम के कार्यक्रम की तैयारियों का लिया जायजा, यह है कार्यक्रम की रूपरेखा

जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह ने दावा किया कि इस सिंचाई नहर परियोजना के जरिए 14 लाख से अधिक हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी, जबकि 9 जिलों से गुजरने वाली इस नहर परियोजना के जरिए 25 लाख से अधिक किसान लाभान्वित होंगे वहीं, पीएम मोदी को सुनने के लिए तकरीबन दो लाख से अधिक लोगों के आने की संभावना जाहिर की जा रही है।

सभा स्थल पर पांच हेलीपैड बनाए जा रहे हैं, जबकि तकरीबन 6000 स्क्वायर मीटर में कार्यक्रम स्थल को तैयार किया जा रहा है। वहीं, 64 बॉक्स बनाए जा रहे हैं। जिसमें 40,000 लोगों के बैठने की व्यवस्था के लिए कुर्सियां लगाई जाएंगी। इसके अलावा अन्य लोगों के लिए खड़े होने व स्क्रीन लगवा कर उन्हें प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लाइव दिखाया जाएगा। अगर अधिकारियों की मानें तो पूरा कार्यक्रम स्थल 30 एकड़ से अधिक क्षेत्रफल में बनाया जा रहा है।

मंत्रियों ने दिए लापरवाही न बरतने के निर्देश

राज्य मंत्री ने कार्यक्रम की तैयारियों का जिम्मा संभाल रहे सदर एसडीएम से बन रहे हेलीपैड का भी जायजा लिया। साथ ही संबंधित अधिकारियों को कार्यक्रम में किसी भी किस्म की लापरवाही न बरतने का निर्देश दिया। मंत्रियों ने निर्देशित किया कि कार्यक्रम में किसी भी तरह की लापरवाही न की जाए। प्रधानमंत्री के आगमन से लेकर उनके जाने तक विशेष सतर्कता बरती जाए।

बलरामपुर में पीएम के कार्यक्रम 
11 दिसंबर को 12:00 बजे तक आ सकते हैं पीएम मोदी

जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह ने बताया कि आगामी 11 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आगमन बलरामपुर में हो रहा है। अभी समय का निर्धारण नहीं हो सका है, लेकिन तकरीबन 12 बजे उनके आने की संभावना है।

व्यापक पैमाने पर किए जा रहे हैं इंतजाम

वहीं, राज्य मंत्री पलटू राम ने बताया कि सुरक्षा के व्यापक इंतजाम के बीच पांच हेलीपैड बनाए जा रहे हैं। जिनमें तीन का उपयोग प्रधानमंत्री व प्रधानमंत्री की सुरक्षा में किया जाएगा, जबकि दो हेलीपैड पर राज्यपाल व मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर उतरेगा। उन्होंने यह भी बताया कि यहां करीब 2 लाख लोगों के कार्यक्रम में शामिल होने की संभावना है। फिलहाल 40 से 50 हजार कुर्सियां बैठने के लिए लगाई जा रही हैं।

इस तरह से किए गए डायवर्जन

कार्यक्रम को देखते हुए यातायात पुलिस ने रूट डायवर्जन की रूपरेखा को तैयार करते हुए एक पत्र जारी किया है। जिसमें बताया गया है कि जनपद बहराइच से श्रावस्ती बलरामपुर होकर बस्ती जाने वाले वाहनों को गोंडा की तरफ डायवर्ट किया जाएगा. वहीं, गोरखपुर बस्ती से बलरामपुर होकर बहराइच जाने वाले वाहनों को अयोध्या गोंडा होकर बहराइच भेजा जाएगा. इसके अलावा गोंडा से बलरामपुर तुलसीपुर होकर बढ़नी नेपाल जाने वाले वाहनों को गोंडा से डुमरियागंज होते हुए बढ़नी भेजा जाएगा। हालांकि, सभी प्रकार के गन्ने की गाड़ियों को इस दौरान प्रतिबंधित रखा जाएगा। श्रावस्ती-बलरामपुर बॉर्डर, गोंडा-बलरामपुर बॉर्डर, सिद्धार्थनगर-बलरामपुर बॉर्डर के सभी बॉर्डर मार्गों को कार्यक्रम के निर्धारित समय तक के लिए बंद रखने की बात कही गई है।

9 दिसंबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 11 दिसंबर को होने वाले पीएम के भव्य कार्यक्रम का जायजा लेने के लिए जिले में आएंगे. वह अधिकारियों व आयोजकों से कार्यक्रम की रूपरेखा और उसके सफल संचालन के बारे में जानकारी लेंगे. साथ ही उन्हें जरूरी दिशा-निर्देश भी देंगे. कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सैकड़ों की संख्या में पुलिसकर्मियों व अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जा रही है.

अटल बिहारी वाजपेयी की कर्मभूमि पर आ रहे पीएम मोदी

बताते चलें कि तकरीबन 50 साल से लंबित सिंचाई परियोजना के लोकार्पण के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बलरामपुर आ रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कर्मभूमि कहे जाने वाले बलरामपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9802 करोड़ रुपये की लागत से बनाई गई सरयू नहर राष्ट्रीय सिंचाई परियोजना का लोकार्पण करेंगे।