होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

अयोध्या में बनेगी रामायण विविश्वद्यालय, छात्र पढ़ेंगे रामचरितमानस

अयोध्या में बनेगी रामायण विविश्वद्यालय, छात्र पढ़ेंगे रामचरितमानस

 अयोध्या: राम नगरी अयोध्या में रिसर्च के लिए 21 एकड़ में रामायण विविश्वद्यालय बनाया जाएगा, जिसके लिए महर्षि विद्यापीठ ट्रस्ट की ओर से रूपरेखा तय कर ली गई है। इतना ही नहीं, इसके लिए ट्रस्ट की ओर से तैयारियां भी शुरू की जा चुकी हैं। इसी क्रम में यहां हवन पूजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अयोध्या पहुंचकर हवन में आहूति देकर इसका शिलान्यास करेंगे।

 

इन विषयों को दी जाएगी प्रमुखता


बताया जा रहा है कि 21 एकड़ में बनने वाले रामायण विश्वविद्यालय में कुछ निर्धारित विभाग ही खोले जाएंगे, जिनमें रामायण की रिसर्च के बारे में पढ़ाए जाने पर जोर दिया जाएगा। इतना ही नहीं इस यूनिवर्सिटी में संस्कृत और हिंदी भाषा को प्रमुख स्थान दिया जाएगा।

 

30 नंवबर से शुरू हुआ कार्यक्रम


इसके लिए 30 नंवबर से हवन पूजन कार्यक्रम की शुरूआत कर दी गई थी, जो कि तीन दिन चलेगा। इस कार्यक्रम का समापन अयोध्या में परिक्रमा मार्ग स्थित महर्षि आश्रम में 101 पुरोहित मंत्रोच्चारण और विधि-विधान से पूजन व पूर्णाहुति के साथ होगा। 

 

साधु-संतों और महर्षियों के साथ भोजन करेंगे मुख्यमंत्री योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यज्ञाहुति डालने के साथ ही सभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद वह आश्रम परिसर में ही साधु-संतों और महर्षियों के साथ भोजन करेंगे। इसके लिए यहां खास इंतजाम किए गए हैं।

 

नोएडा में भी किया गया था महायज्ञ का आयोजन

 

इससे पहले नोएडा के महर्षि वैदिक परिसर में 17 से 27 नवंबर तक महायज्ञ का आयोजन किया गया था। इस महायज्ञ की अध्यक्षता जगदगुरु शंकराचार्य श्री स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती जी महाराज ने की थी। इस महायज्ञ में देशभर के आचार्य, विद्वान, प्रकांड पंडित और पुरोहितगण शामिल हुए थे। इतना ही नहीं इन सभी ने मिलकर विधि-विधान से कई धार्मिक आयोजन भी किए थे, जिसमें मानव कल्याण के लिए देवताओं का आह्वान कर हर रोज 1008 से ज्यादा आहुतियाँ डाली गई थी।

 

ये विश्वविद्यालय पहले से पढ़ा रहे रामायण का सिलेबस


मध्यप्रदेश के दो और विश्वविद्यालय पहले से रामायण विज्ञान से जुड़े पाठ्यक्रमों की शुरुआत कर चुके हैं।