होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

शाहजहांपुर में नामांकन बाद बोले सुरेश खन्ना "जनता सपा के फ्री बिजली के बहकावे में नही आने वाली"

शाहजहांपुर में नामांकन बाद बोले सुरेश खन्ना


वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के 300 यूनिट बिजली फ्री देने के वादे पर तंज कसा। शाहजहांपुर शहर विधानसभा सीट से नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद मीडिया से मुखातिब होने पर कहा सपा की सरकार में बिजली व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो चुकी थी। कई-कई दिन तक बिजली न आने की वजह से लोगों ने अपनी बेटियों के नाम ही बिजली रखना शुरू कर दिया था, ताकि उन्हें यह शब्द याद रहे। उन्होंने कहा कि सपा में सिर्फ गुंडा, माफिया को ही संरक्षण दिया जा रहा है। इसलिए जनता उनके बहकावे में आने वाली नहीं है।

वहीं प्राविधिक शिक्षा मंत्री जितिन प्रसाद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिना भेदभाव के योजनाओं को पब्लिक तक पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण पूरी तरह से भाजपा के साथ है। विपक्ष सिर्फ नकारात्मक मानसिकता के साथ उन्हें बहकाने काम कर रहा है। मतदान के साथ ही विपक्षियों के तंबू भी पूरी तरह से उखड़ जाएंगे।

कांग्रेस प्रत्याशी का प्रचार वाहन सीज, पांच पर मुकदमा: उड़नदस्ते की टीम ने चेकिंग अभियान के दौरान मीरानपुर कटरा से कांग्रेस प्रत्याशी का प्रचार वाहन आचार संहिता के उल्लंघन में सीज कर दिया। जबकि पांच समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। उड़नदस्ता टीम प्रथम के मजिस्ट्रेट कन्हैयालाल, प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कुमार सोलंकी टीम के साथ मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे मीरानपुर कटरा- जलालाबाद राज्य राजमार्ग स्थित खैरपुर चौराहा पर चेकिंग अभियान चला रहे थे। मीरानपुर कटरा से कांग्रेस प्रत्याशी मुन्ना सिंह नवादा के प्रचार वाहन को रोक लिया। तलाशी लेने पर पंपलेट आदि बरामद हुए। कार में सवार मदनापुर थाना क्षेत्र के ग्राम हैदलपुर निवासी अरविंद सिंह, मोनू सिंह, राहुल सिंह, गढियारंगीन थाना क्षेत्र के ग्राम खिरिया निवासी पंडित यादव, ग्राम मौघटिया निवासी चालक मनसुख लाल को हिरासत में ले लिया। मुकदमा दर्ज करने के बाद सभी को मुचलके पर छोड़ दिया गया। वहीं मुन्ना सिंह नवादा ने थाने में तैनात एक दारोगा पर विपक्षी प्रत्याशी के इशारे पर कार्रवाई करने व उनके समर्थक से रुपये लेने का आरोप लगाया। उन्होंने एसपी व डीएम को भी शिकायती पत्र दिया। प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कुमार सोलंकी ने आरोपों को निराधार बताया।