होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

मथुरा कृष्ण जन्मभूमि को मक्का मदीना के पवित्र जल से धोने की चुनौती देने वाली अब हो गई भाजपाई

मथुरा कृष्ण जन्मभूमि को मक्का मदीना के पवित्र जल से धोने की चुनौती देने वाली अब हो गई भाजपाई

आगरा पुलिस कांग्रेस की फायर ब्रांड नेत्री शबाना खंडेलवाल को खोज रही थी और बाद में ये पता चला कि वह सोमवार को अचानक राजधानी लखनऊ पहुंचकर भाजपाई हो गईं। मजे की बात यह है कि वह एक दिन पहले तक भाजपा के खिलाफ जमकर मोर्चा खोले हुई थीं। रविवार को उनके निवास पर ऑल इंडिया उलेमा बोर्ड की बैठक हुई। इस बैठक में शबाना खंडेलवाल को ऑल इंडिया उलेमा बोर्ड महिला विंग का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किया गया।

बैठक के बाद शबाना खंडेलवाल ने मथुरा कृष्ण जन्मभूमि को आब-ए-जमजम (मक्का मदीना का पवित्र जल) पिलाने का ऐलान किया। इसके बाद आगरा पुलिस उनकी तलाश करने लगी। वह आगरा के खंदारी स्थित निर्भय नगर में अपने घर से गायब मिली। पुलिस शबाना की तलाश में दबिश दे रही थी कि सोमवार को अचानक वह लखनऊ पहुंची और लक्ष्मीकांत बाजपेयी व स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शबाना खंडेलवाल ने हिन्दू व्यक्ति से शादी की थी।

उनके पति हत्या के एक मुकदमे में आगरा जिला जेल में बंद थे। कोरोना की दूसरी लहर में उनकी मृत्यु हो गयी थी। शबाना ने अपनी पति की मौत के लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया था. वह कांग्रेस की फायरब्रांड नेत्री के रूप में पहचानी जाने लगी थीं और पार्टी की उत्तर प्रदेश कार्यकारिणी में पदाधिकारी थीं. शबाना ने आगरा में महिलाओं के हक के लिए वाली 'पीली सेना' का गठन किया है, जो शहर में काफी मशहूर है।