होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

बाबा साहब भीमराव आम्बेडकर जी का जीवन दर्शन हम सबके लिए अनुकरणीय

बाबा साहब भीमराव आम्बेडकर जी का जीवन दर्शन हम सबके लिए अनुकरणीय

दीनदयाल उपाध्याय, राज्य ग्राम्य विकास संस्थान, बख्शी का तालाब, लखनऊ के अन्तर्गत मंगलवार को भारत रत्न, बोधिसत्व बाबा साहब डा0 भीमराव आम्बेडकर जी की पुण्य तिथि के अवसर पर संस्थान परिसर के अन्तर्गत “ ट्रान्सफार्मेशन भवन" के 'बुद्धा सभागार' में, बी0डी0 चौधरी, अपर निदेशक, संस्थान की अध्यक्षता में, संस्थान के समस्त अधिकारियों / कर्मचारियों की उपस्थिति में श्रद्वांजलि सभा का आयोजन किया गया।

बाबा साहब डा० भीमराव आम्बेडकर जी के चित्र पर बी0डी0 चौधरी, अपर निदेशक, संस्थान द्वारा मल्यार्पण करते हुए भावभीनी श्रद्वांजलि अपर्ति की गयी। समस्त उपस्थिति अधिकारियों एवं कार्मिकों को सम्बोधित करते हुए बताया कि बाबा साहब संविधान निर्माता समिति के विशिष्ट सदस्य होने के साथ संविधान प्रलेखन समिति के अध्यक्ष थे। 

उन्होंने अपने शैक्षिक व सामाजिक जीवनकाल में दलितों तथा समाज के अन्तिम पायदान पर अभावग्रस्त जीवन जी रहे नागरिकों की समस्याओं को अत्यन्त निकटता के साथ अनुभव किया। उस समय सामाजिक कुरीतियों तथा रूढ़िवादी परम्पराओं से दलित समाज को बचाने के लिए उनके द्वारा अथक प्रयास किये। अद्यतन रूप से समाज में जो सम्मानजनक स्थिति निर्बल वर्गों की देख रहे हैं, उसका सम्पूर्ण श्रेय बाबा साहब के अथक प्रयासों को जाता है। कहा कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर जी का जीवन दर्शन हम सबके लिए अनुकरणीय है।

कार्यक्रम के अन्तर्गत संस्थान के अन्य प्रबुद्ध संकाय अधिकारियों द्वारा भी बाबा साहब की  जीवन दर्शन पर महत्वपूर्ण प्रकाश डाला गया।