होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

किसानों के नाम पर दुकान चलाने वालों को अब रात में नहीं आएगी नींद: केशव प्रसाद मौर्य

किसानों के नाम पर दुकान चलाने वालों को अब रात में नहीं आएगी नींद: केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने तीन नए कृषि कानून वापस लेने का ऐलान अब तो कर ही दिया है। पिछले एक साल से देश के कई हिस्सों में किसान इन कानूनों का विरोध कर रहे थे। इसी कड़ी में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने बड़ा बयान दिया है। प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘तीनों कृषि क़ानून वापस लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अभिनन्दन करता हूं, किसान आन्दोलन के नाम पर चुनाव आन्दोलन करने वाले दलों और नेताओं को बेरोज़गार हो गए। साजिश अब सफल नहीं होगी कमल खिला है खिला रहेगा।

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, भाजपा किसानों के लिए सब कुछ करने को तैयार थी है और रहेगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा विरोधी विपक्षी दलों और नेताओं को जो किसानों को गुमराह कर रहे थे उन्हें बेरोज़गार कर दिया है, किसानों के नाम पर राजनीतिक दुकान चलाने वालों को अब रात में नींद नहीं आयेगी। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा करने के बाद शिवपाल ने ट्वीट कर कहा- ‘आखिर कृषि विरोधी कानूनों के खिलाफ चल रहा अन्नदाताओं का संघर्ष एक मुकम्मल मुकाम पर पहुंचा और इस अहंकारी सरकार को जन आकांक्षा के आगे घुटने टेकने पड़े। यह सुखद है कि लंबे चले संघर्ष के बाद किसानों की जीत हुई है।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु नानक जयंती के अवसर पर राष्ट्र के नाम संबोधन में तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा की और कहा कि इसके लिए संसद के आगामी सत्र में विधेयक लाया जाएगा। प्रधानमंत्री ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) से जुड़े मुद्दों पर एक समिति बनाने की भी घोषणा की।