होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

उर्वरक की असुविधा से बचने के लिए सीधे अधिकारियों से करें संपर्क: सूर्य प्रताप शाही

उर्वरक की असुविधा से बचने के लिए सीधे अधिकारियों से करें संपर्क: सूर्य प्रताप शाही

प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा जनपद लखनऊ में उर्वरक की उपलब्धता के सम्बन्ध में आज अपने कार्यालय कक्ष में समीक्षा बैठक की गयी। इस दौरान उन्होंने जानकारी दी कि रबी 2022 में बोई जाने वाली फसल में डीएपी उर्वरक का प्रयोग किये जाने हेतु 12500 मै0टन लक्ष्य के सापेक्ष उपलब्ध डीएपी उर्वरक 13142 मै0टन, एनपीके उर्वरक 1134 मै0टन एवं सिंगल सुपर फास्फेट उर्वरक 218 मै0टन0 जनपद के बिक्री केन्द्रों पर उपलब्ध कराकर वितरित किया जा रहा है। जनपद में इफको डीएपी उर्वरक की एक(1) रैक 3648 मै0टन की सहकारिता से वितरण हेतु प्राप्त हो रही है। इसके साथ ही जनपद लखनऊ में उर्वरक की मांग को देखते हुये जनपद उन्नाव से इफको डीएपी 1000 मै0टन, जनपद रायबरेली से इफको डीएपी 350 मै0टन0 तथा एनपीके 150 मै0टन, हरदोई से इफको डीएपी 100 मै0टन का अतिरिक्त आवंटन किया है। 

कृषि मंत्री ने कृषकों को आश्वत किया है कि जनपद में किसी भी प्रकार के रासायनिक उर्वरकों यूरिया, डीएपी, एनपीके एवं एमओपी की कोई कमी साधन सहकारी समितियों, एवं अन्य बिक्री केन्द्रों पर नहीं है, सभी उर्वरक पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। कृषक बन्धु अपनी जोत के आधार पर फास्फेटिक उर्वरक प्राप्त करके बुवाई को यह भी अवगत कराया जाता है कि जनपद में एनपीके उर्वरक भी उपलब्ध है जो कि डीएपी उर्वरक के विकल्प के रूप मे उपयोग कर सकते  हैं। यदि उर्वरकों के सम्बन्ध में किसी प्रकार की समस्या आती है तो कृषक बन्धु जिला कृषि अधिकारी, लखनऊ मो0नं0-7839882167, सहायक आयुक्त निबंधक, सहकारी समितियॉ लखनऊ, मो0नं0-9454164781, जिला प्रबंधक पीसीएफ, लखनऊ, मो0नं0-9452297665 एवं क्षेत्र प्रतिनिधि, इफको लखनऊ, मो0नं0-7379585925 पर सम्पर्क कर अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। 

समीक्षा बैठक के दौरान जिला कृषि अधिकारी, सहायक आयुक्त एव सहायक निबन्धक सहकारी समितिया लखनऊ, क्षेत्रीय प्रबन्धक पी0सी0एफ0, उप आयुक्त सहकारिता, लखनऊ मण्डल, सयुक्त कृषि निदेशक लखनऊ मण्डल लखनऊ उपस्थित थे।