होम > राज्य > उत्तर प्रदेश / यूपी

प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुँचाने का योगी ने किया आह्वान

प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुँचाने का योगी ने किया आह्वान

लखनऊ/गोरखपुर। केंद्र व प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों का नेटवर्क तैयार कर सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर विपक्ष को आईना दिखाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा आईटी एवं सोशल मीडिया विभाग के कार्यकर्ताओं का आह्वान किया है।

उन्होंने कहा कि इन योजनाओं से लाखों, करोड़ो परिवारों में खुशहाली आई है, अगर उन परिवारों से संवाद कर उनकी बातचीत का तथ्यात्मक व सकारात्मक कंटेंट सोशल मीडिया पर डालेंगे तो सफेद झूठ बोलने वाला विपक्ष कहीं नहीं ठहरेगा, मैदान छोड़कर भाग जाएगा। उसकी सारी मंशा धूल धूसरित हो जाएगी।

भारतीय जनता पार्टी के आईटी एवं सोशल मीडिया विभाग की मंडलीय कार्यशाला के शुभारंभ के दौरान योगिराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में आयोजित कार्यशाला में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के हर जिले में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट का काम हुआ है। बहुत बड़ी आबादी को सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिला है। प्रदेश में 2.61 करोड़ शौचालय बने हैं जिसका फायदा 10 करोड़ लोगों को हुआ है। प्रधानमंत्री आवास योजना से बने 40 लाख से अधिक आवासों से दो करोड़ लोग लाभान्वित हुए हैं।

कोविडकाल में 15 करोड़ परिवारों को मुफ्त राशन मिला। 2.53 करोड़ किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ मिला। 1.56 करोड़ परिवारों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन व 1.38 करोड़ परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया गया। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने वाले कन्या सुमंगला योजना से 10 लाख बालिकाएं आच्छादित हुईं। प्राथमिक विद्यालयों के 1.81 करोड़ बच्चों को मुफ्त यूनिफॉर्म, जूता, मोजा, स्वेटर, बैग आदि प्रदान किया गया। अभ्युदय कोचिंग से 10 लाख से अधिक नौजवानों को प्रतियोगी परीक्षाओं की निशुल्क तैयारी का मौका मिला।

सामूहिक विवाह योजना से 1.60 लाख गरीब कन्याओं का विवाह संपन्न हुआ। 10 लाख से अधिक को दिव्यांगजन पेंशन, 29 लाख से अधिक को निराश्रित महिला पेंशन व 60 लाख से अधिक को वृद्धावस्था पेंशन का लाभ मिल। 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी मिली तो प्रदेश में हुए निवेश से 1.61 करोड़ को रोजगार मिला। साथ ही 60 लाख लोगों को स्टार्टअप आदि योजनाओं के तहत बैंकों से जोड़कर सेवायोजित किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद कर बहुत बड़ा नेटवर्क तैयार किया जा सकता है। उनसे बातकर सोशल मीडिया के लिए छोटे और प्रभावी कंटेंट बनाए जा सकते हैं। यदि हम ऐसा कर लें तो सोशल मीडिया पर कोई भी हमारा मुकाबला नहीं कर सकता। सीएम योगी ने कहा कि सोशल मीडिया में दोतरफा संवाद होता है। यदि आप इस पर सक्रिय हैं तो तत्काल जवाब दे सकते हैं। नहीं तो आपके खिलाफ ट्रेंड होने का खतरा बना रहेगा। सोशल मीडिया पर प्रभावशाली उपस्थिति को नजरअंदाज किया गया तो नकारात्मक खामियाजा भुगतना पड़ता है।

उन्होंने बताया कि फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर बीजेपी के अपने एकाउंट हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्र व राज्य सरकार की भी वहां प्रभावी उपस्थिति है। इनसे जुड़कर और अधिकाधिक लोगों जो जोड़कर थोड़ा भी लाइक, शेयर करें, सकारात्मक व छोटे कंटेंट लिखें।

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन . जानिए देश-विदेशमनोरंजनबॉलीवुडखेल जगतबिज़नेस और अपने प्रदेश, से जुड़ी खबरें।

यह भी पढ़ें- उप्र डेवलपमेण्ट फोरम ने किया मुंबई में रह रहे उप्र के लोगों को जोड़ने के लिए कार्यक्रम का आयोजन

यूपी: उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने किया प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र का उद्घाटन

उत्तर प्रदेश में कोरोना पर नियंत्रण, लेकिन प्रशासन मुस्तैद : योगी ने दिए निर्देश

0Comments