होम > राज्य > पश्चिम बंगाल

टैगोर की नगरी कोलकाता में 3 दिनी बांग्ला साहित्य उत्सव का आयोजन

टैगोर की नगरी कोलकाता में 3 दिनी बांग्ला साहित्य उत्सव का आयोजन

कोलकाता | भारत का पहला बांग्ला साहित्यिक उत्सव 'एपीजे बांग्ला साहित्य उत्सव (एबीएसयू)' 10 दिसंबर से शुरू होने जा रहा है। 10 से 12 दिसंबर तक चलने वाले तीन दिवसीय साहित्य उत्सव का सातवां संस्करण पहले दो दिनों में सभी कार्यक्रम वर्चुअल तरीके से होंगे और उत्सव के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इसे लाइव स्ट्रीम किया जाएगा। इसके बाद तीसरे दिन ऑक्सफोर्ड बुकस्टोर में आयोजित होने वाले सत्र में साहित्यकार और साहित्य-प्रेमी उपस्थित रहेंगे। इसे एपीजे बांग्ला साहित्य उत्सव के विभिन्न डिजिटल प्लेटफॉर्म पर वर्चुअल रूप से भी देखा जा सकता है।

ऑक्सफोर्ड बुकस्टोर्स में वर्ष 2015 में भारत का पहला बांग्ला साहित्यिक उत्सव आयोजित करने का संकल्प लिया गया था। इसका उद्देश्य है विभिन्न विषयों पर चर्चाओं और बहसों के माध्यम से बांग्ला साहित्य में, विशेषकर साहित्यिक कथा और इतिहास, समाज, अनुवाद, ऑडियो पुस्तकें, ग्राफिक के लिए गैर-कल्पना उपन्यास और कविता के रुझानों और उनमें परिवर्तनों का पता लगाना है।

तीन दिनों तक चलने वाले इस साहित्यिक उत्सव में 16 समृद्ध चर्चा सत्रों के साथ दुनियाभर के वक्ताओं की एक कतार होगी, जिसमें लेखक, कवि, नाटककार, पत्रकार, सांस्कृतिक प्रतीक और प्रमुख साहित्यिक पुरस्कार प्राप्त करने वाले शामिल होंगे।

एबीएसयू के निदेशक और ऑक्सफोर्ड बुकस्टोर्स के सीईओ स्वागत सेनगुप्ता ने कहा, "यह दूसरा वर्ष है, जब हम ऑनलाइन और भौतिक प्रारूप में इस बड़े उत्सव को सफलतापूर्वक आयोजित करने में सक्षम हैं। उत्सव में श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए विशेष सत्र भी होगा, जिसमें महान लेखकों शंख घोष, बुद्धदेव गुहा और अनीश देब को श्रद्धांजलि दी जाएगी। इसमें 16 विशेष रूप से क्यूरेटेड सत्र भी होंगे जो ग्राफिक उपन्यास, ऑडियो पुस्तकें, ब्रह्मांड विज्ञान, पत्रकारिता, सिनेमा और बांग्ला साहित्य से संबंधित हैं।

एपीजे बांग्ला साहित्य उत्सव के सातवें संस्करण में शीर्षेदु मुखोपाध्याय, पबित्रा सरकार, रुद्रप्रसाद सेनगुता, नृसिंह प्रसाद भादुड़ी, बानी बसु, सुभा प्रसन्ना, कमलेश्वर मुखर्जी, परमब्रत चट्टोपाध्याय, सुबोध सरकार, अनिंद्य जाना, मुखर्जी दास गुप्ता, साईंकिशोर दास गुप्ता, प्रसून बनर्जी, बिनोद घोषाल, गौरव चक्रवर्ती, शुभंकर डे, इंद्राणी चक्रवर्ती, यशोधरा रॉयचौधरी, दीपानिता रॉय, राजा भट्टाचार्य, देबज्योति भट्टाचार्य, अभिज्ञान रॉयचौधरी जैसी प्रख्यात हस्तियां शामिल होंगी।