होम > राज्य > पश्चिम बंगाल

कोविड अपडेट : बंगाल सरकार सख्त प्रतिबंध लगाने पर कर रही विचार

कोविड अपडेट : बंगाल सरकार सख्त प्रतिबंध लगाने पर कर रही विचार


कोलकाता | राज्य के साथ-साथ देश में ओमिक्रॉन के मामलों में वृद्धि को देखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार फिर से पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है। दक्षिण 24 परगना जिले में एक प्रशासनिक बैठक में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने व्यापक संकेत दिए कि राज्य सरकार वायरस के फैलाव को रोकने के लिए स्कूलों और लोकल ट्रेनों पर प्रतिबंध लगा सकती है।


ममता ने बुधवार को बैठक में कहा, "मामले बढ़ रहे हैं, इसलिए हम कुछ दिनों के लिए स्कूल की छुट्टियों की घोषणा कर सकते हैं और यदि आवश्यक हो, तो हमें स्कूल और कॉलेज बंद करने पड़ सकते हैं।"


उन्होंने अधिकारियों से राज्य में मौजूदा महामारी की स्थिति की समीक्षा करने और शहर में संक्रमण की उच्च दर को देखते हुए कोलकाता में नियंत्रण क्षेत्रों की पहचान शुरू करने के लिए कहा।


मुख्यमंत्री ने कहा, "बाहर से आने वाले लोग वायरस के साथ आ रहे हैं और इसलिए संक्रमण दर शहर में ऊंची है। शहर में बहुत से लोग बाहर से आते हैं। मगर डरने की कोई बात नहीं है, हमें सतर्क रहना चाहिए।"


बंगाल भी कोविड-19 के ओमिक्रॉन स्वरूप से संक्रमण के मामले में भारत के शीर्ष 10 सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, राज्य में ओमिक्रॉन के अब तक 11 मामले सामने आए हैं, जिनमें से अब तक केवल एक मरीज ही ठीक हुआ है।


राज्य के स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक, बंगाल में मंगलवार को एक दिन में कोविड मामलों में सबसे भारी उछाल देखा गया। एक दिन में 752 मामले दर्ज किए गए, जो पिछले दिन से 439 अधिक हैं। मंगलवार को दर्ज किए गए 752 ताजा मामलों में से कोलकाता में 382, इसके बाद उत्तर 24 परगना में 102 थे। सोमवार को कोलकाता में 204 मामले दर्ज किए गए थे। 


हालांकि मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय ट्रेनों को तुरंत नहीं रोका जा सकता।


ममता ने कहा, "बहुत से लोग लोकल ट्रेनों पर निर्भर हैं और इसलिए उन्हें इस समय रोका नहीं जा सकता। मास्क पहनें और ट्रेन में चढ़ने से पहले तैयारी करें।"


मुख्यमंत्री इस समय गंगासागर के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। उन्होंने लोगों को घर से काम करने का सुझाव दिया और संगठनों को 50 प्रतिशत कार्यबल के साथ काम करने को कहा।


मुख्यमंत्री ने कहा, "जो लोग गंगासागर आना चाहते हैं, उन्हें सभी सावधानियों का पालन करना होगा।"