होम > शासन

विकास की सबसे पहली सीढ़ी सड़क और बिजली से शुरू होती है - सुरेश कुमार खन्ना

विकास की सबसे पहली सीढ़ी सड़क और बिजली से शुरू होती है - सुरेश कुमार खन्ना

उत्तर प्रदेश सरकार के माननीय मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप जनपद गाजियाबाद में विकास कार्यक्रमों में गतिशीलता लाने एवं गुणवत्ता परक रूप से निर्धारित समय अवधि के भीतर विकास कार्यों को संपादित कराने के उद्देश्य से जनपद गाजियाबाद के प्रभारी मंत्री एवं मंत्री वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री विभाग उ0प्र0 सुरेश कुमार खन्ना की अध्यक्षता में आज जिला योजना वर्ष 2021-22 गाजियाबाद के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट के महात्मा गांधी सभागार में आयोजित हुई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचे इस उद्देश्य से समस्त अधिकारीगण निरंतर कार्यवाही सुनिश्चित कराएं ताकि विकास कार्यक्रमों का लाभ सरकार की मंशा के अनुरूप जनमानस को शीघ्रता के साथ उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि हर हाल में दिसंबर 2021 समाप्ति से पूर्व समस्त विभाग के अधिकारीगण अपने-अपने विकास कार्यक्रमों को गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराएं। जिन विभागों के निर्माणाधीन कार्य धनाभाव के कारण बाधित हैं, सम्बन्धित विभाग शासन से धनराशि अवमुक्त कराने के लिए जिलाधिकारी के माध्यम से पत्र प्रेषित करें तथा जिन परियोजनाओं का कार्य अनारम्भ है शासन से पत्राचार करके कार्य प्रारम्भ कराना सुनिश्चित कराएं।

प्रभारी मंत्री द्वारा संबंधित अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा गया कि दिसंबर माह के समाप्ति से पहले अपने-अपने विकास कार्यक्रमों को तेजी से आगे बढ़ाकर वित्तीय वर्ष समाप्ति से पूर्व सभी कार्यक्रमों को पूर्ण करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। मंत्री ने समस्त अधिकारी गणों को निर्देशित करते हुए कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप वृक्षारोपण के संबंध में अपना लक्ष्य अपने आप निर्धारित करते हुए रुचि लेकर वृक्षारोपण की कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाए।
समस्त अधिकारीगण न केवल मीटिंग करें अपितु योजनाओं को लेकर निरंतर उसकी समीक्षा करते रहे। उन्होंने कहा कि विकास की सबसे पहली सीढ़ी सड़क और बिजली से शुरू होती है अतः संबंधित अधिकारीगण इस क्षेत्र में सड़कों का चौड़ीकरण, मजबूती एवं गड्ढा मुक्ति पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि आमजन की बिजली संबंधी कोई भी समस्या को प्राथमिकता पर सुनकर उसका समाधान आविलम्भ कराया जाए।

बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा मंत्री को अवगत कराया गया कि बिना मीटर लगे फर्जी बिजली बिल के संबंध में आम जनों के खिलाफ विद्युत विभाग द्वारा एफ0आई0आर0 दर्ज कराई जा रही है जिसका संज्ञान लेते हुए उन्होंने एस0ई0 विद्युत को तत्काल एफ0आई0आर0 का संज्ञान लेते हुए उनको वैधानिक तौर पर निस्तारित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी अधिकारीगण अपने क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति को लेकर गलियों में तारों के गुच्छे एवं ट्रांसफार्मरों की क्षमता संबंधी रिपोर्ट तैयार करें जिससे विद्युत आपूर्ति में आ रही समस्याओं का निदान कराया जा सके। स्वयं सहायता समूह को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने परियोजना निदेशक को निर्देशित करते हुए कहा कि स्वयं सहायता समूह की मासिक बैठक आयोजित कर उनकी समस्याओं का संज्ञान लेते हुए निस्तारित कराना सुनिश्चित कराएं। उन्होंने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि विशेष कैंप लगाकर राशन कार्ड सत्यापन की कार्रवाई कराना सुनिश्चित करें ताकि योजना का लाभ अधिक से अधिक पात्र लाभार्थियों तक पहुंच सके। उन्होंने समस्त अधिकारीगण एवं जनप्रतिनिधियों से आह्वान करते हुए कहा कि पी0एम0 स्व निधि योजना का लाभ पहुंचाने के लिए अपने-अपने क्षेत्रों में पात्र लाभार्थियों को चयनित करने की प्रक्रिया में तेजी लाएं। उन्होंने परियोजनाओं के संबंध में निर्माण एजेंसियों के अधिकारियों को स्पष्ट करते हुए कहा कि सभी अधिकारियों द्वारा निर्माण कार्यों में तेजी लाकर निर्धारित समय अवधि के भीतर सभी परियोजनाओं को गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

प्रभारी मंत्री ने इस अवसर पर समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारियों के द्वारा अपने-अपने कार्यालयों में नियमित रूप से समय पर उपस्थित होकर जनसुनवाई का कार्य सुनिश्चित किया जाए, ताकि जनता की समस्याओं का निराकरण सरकार की मंशा के अनुरूप संभव हो सके। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार के आई0जी0आर0एस0 पोर्टल एवं मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर जो जन शिकायतें प्राप्त हो रही हैं, उसके संबंध में अधिकारियों के द्वारा प्रतिदिन कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए गुणवत्ता के साथ प्राप्त शिकायतों का निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। जी0एम0 जल निगम को निर्देश दिए गए कि जो भी विकास के कार्य कराए जा रहे हैं और उसमें सड़क की खुदाई हो रही है तो कार्य पूर्ण होते ही सड़क को तुरंत ठीक कराया जाए ताकि लोगों को कोई समस्या न आए। इसके साथ ही पानी की टंकी के कनेक्शन के लिए अधीक्षण अभियंता को निर्देशित किया गया है कि वह अधिक से अधिक लोगों को पानी के कनेक्शन उपलब्ध कराएं साथ ही पानी की टंकियों के निर्माण के जो भी कार्य अधूरे पड़े हैं यह जल निगम की जिम्मेदारी है कि प्रोजेक्ट मैनेजर को तुरंत बुलाया जाए और ऐसे कार्य को दिसंबर तक पूर्ण कराए जाए।

समीक्षा बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए है कि शहर की कानून व्यवस्था दुरुस्त रहें और ऑर्गेनाइज्ड क्राईम करने वाले लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाए। इस अवसर पर जिला अधिकारी राकेश कुमार सिंह ने प्रभारी मंत्री जी को आश्वस्त करते हुए कहा कि जनपद की आर्थिक एवं सर्वांगीण विकास के संबंध में जो दिशा निर्देश उन्होंने दिए हैं उनका संबंधित अधिकारियों के माध्यम से पालन सुनिश्चित कराते हुए जनपद के विकास को और अधिक तीव्र गति के साथ आगे बढ़ा कर जनता की समस्याओं के निराकरण को सर्वाेच्च प्राथमिकता दी जाएगी। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में महापौर आशा शर्मा, विधायक लोनी नंद किशोर गुर्जर, विधायक मोदीनगर मंजू शिवाच, विधायक मुरादनगर अजीत पाल त्यागी, मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व यशवर्धन श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक पी0एन0 दीक्षित, जिला विकास अधिकारी बालचंद त्रिपाठी, जिला अर्थ एवं सांख्यिकी अधिकारी वीर सिंह तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण द्वारा भाग लिया गया।