होम > मनोरंजन > यात्रा

दुर्लभ पक्षियों, स्तनधारियों, सरीसृपों से भरा पड़ा है ये जंगल

दुर्लभ पक्षियों, स्तनधारियों, सरीसृपों से भरा पड़ा है ये जंगल

नागालैंड राज्य भारत के उत्तर-पूर्वी भाग के छोर पर स्थित है। इसके पश्चिम और उत्तर की सीमाएं असम राज्य से घिरी है। उत्तर में अरुणाचल प्रदेश और दक्षिण में मणिपुर राज्य स्थित है। नतांगकी राष्ट्रीय उद्यान नागालैण्ड के पेरेन से 40 किमी की दूरी पर स्थित है। यह पार्क लगभग 200 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है। सन 2005 में एक हाथी रिजर्व के रूप में घोषित किया गया था।

आदिवासियों की धरती अपनी प्राकृतिक खूबसूरती, प्रदूषण मुक्त वातावरण, सुंदर लैंडस्केप और अतुलनीय सांस्कृतिक विरासत से टूरिस्ट को अपनी ओर आकर्षित करती है। नागालैंड राज्य भारत के प्रमुख आदिवासी क्षेत्रों में से एक है। नागालैंड की एक खास बात यह है कि यहां 16 विभिन्न जातीय समूह रहते हैं।

अपने अद्भुत पहाड़ों, हरे भरे कालीन सी घाटियों, इठलाते झरनों, घने जंगलों और समृद्ध वन्य जीवन से लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यह इलाके ऊँची पहाड़ी, घने जंगली और नदी की गहरी घाटियों से भरे पड़े हुए हैं। यह भूमध्य रेखीय वन खंड अपनी प्राकृतिक सुंदरता और अर्ध-उष्णकटिबंधीय वनस्पति के लिए जाना जाता है। यह घने वर्षावनों से भरपूर, यह पक्षियों, स्तनधारियों, सरीसृपों और कीड़ों की कई प्रजातियों को आश्रय देता है। घने वर्षा वन कई तरह की पक्षियों, सरीसृपों और स्तनपाईयों के लिए भी प्रसिद्ध है। 

राष्ट्रीय उद्यान राष्ट्रीय में रहने वाले प्राणियों में दुर्लभ हूलॉक गिब्बन, सुनहरा लंगूर, धनेश, पाम सिवेट, ब्लैक स्टॉर्क, बाघ, व्हाइट ब्रॅस्टेड किंगफ़िशर, गोह, अजगर और भालू रहते हैं। पार्क के घने वन में किंग कोबरा सहित भारतीय अजगर, जालीदार अजगर, मॉनिटर छिपकली आदि सरीसृपों पाये जाते है। इसमें घने वर्षा वन पक्षियों, सरीसृपों और स्तनधारियों के लिए प्राकृतिक आवास बनाते हैं। नेशनल पार्क की खूबसूरती दूर दूर से पर्यटकों को आने के लिए विवश कर देती हैं।

यहाँ के पहाड़, खड़ी चट्टानें और घने जंगल के कारण जोखिम साहसिक गतिविधियों को पसंद करने वालों के बीच यह काफी खास जगह बनाते हैं। घूमने का सबसे अच्छा समय सर्दियों में होता हैं। 

राज्य का एकमात्र एयरपोर्ट दीमापुर एयरपोर्ट है। यहां से गुवाहाटी और कोलेकाता के लिए सीधे उड़ानें मिलती हैं। नागालैंड राज्य की रेलवे से कनेक्टिविटी बहुत कम है। यहां सड़क मार्ग से आसानी से पहुंचा जा सकता है।