खिलाड़ियों का पलायन रोकने के लिए योगी सरकार हर जिले में खेल स्टेडियम स्थापित करने का काम कर रही

खिलाड़ियों का पलायन रोकने के लिए योगी सरकार हर जिले में खेल स्टेडियम स्थापित करने का काम कर रही

उत्तर प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्धता दिखाते हुए, योगी सरकार स्टेडियमों में खिलाड़ियों के लिए इष्टतम खेल की स्थिति सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। राज्य सरकार राज्य के खेल मैदानों की सुंदरता को बढ़ाने और बनाए रखने के लिए कई प्रबंध करने में समर्पित है। यह गांवों से उभरने वाली प्रतिभाओं को खेल के अवसर प्रदान करने और उनके खेल को बेहतर बनाने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहा है। युवाओं के समुचित समावेशी विकास के विशेष अभियान के दौरान सरकार अगले तीन महीने में 3.5662 करोड़ रुपये की लागत से झांसी में जिम्नास्टिक हॉल का निर्माण भी पूरा करने जा रही है। 

कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम के सौंदर्यीकरण और जीर्णोद्धार के बाद, यूपी सरकार ने लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम में स्प्रिंकलर लगाने के लिए कुल 3.82 करोड़ रुपये का निवेश किया है। यह जमीन के हर हिस्से की उचित सिंचाई सुनिश्चित करने के लिए किया गया है जो घास के विकास को बढ़ावा देता है और पानी की एक महत्वपूर्ण मात्रा को बचाने में भी मदद करता है।

खिलाड़ियों का पलायन रोकने के लिए सरकार हर जिले में खेल स्टेडियम स्थापित करने का काम कर रही है। इसके अलावा कासगंज में 10.2125 करोड़ रुपये का एक खेल स्टेडियम भी बनकर तैयार हो गया है और जल्द ही जिले के खिलाड़ियों को उनके स्टेडियम में खेल सुविधाएं मिलने लगेंगी। खिलाड़ियों को उनके अपने राज्य में बेहतर खेल सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए खेल विभाग ने 1.09 करोड़ रुपये के निवेश से रामपुर के जुल्फिकार अली हॉकी स्टेडियम में छात्रावास के जीर्णोद्धार का काम पूरा कर लिया है। 

उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में खिलाड़ियों की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए लगातार काम किया है। सरकार के इस प्रयास से खिलाड़ियों को न केवल खेलने का मौका मिल रहा है बल्कि खेल में विशेषज्ञता के आधार पर विभिन्न सरकारी विभागों में नौकरी भी मिली है। 

योगी सरकार टोक्यो पैरालिंपिक एथलीट को सम्मानित करेगी

उत्तर प्रदेश के सीएम ने टोक्यो पैरालिंपिक के सभी पदक विजेताओं को सम्मानित करने का फैसला किया है। इस संबंध में अधिकारियों को कार्यक्रम आयोजित करने की योजना तैयार करने को कहा गया है। उत्तर प्रदेश के पदक विजेताओं के साथ-साथ देश के लिए पदक जीतने वाले सभी लोगों को एक सार्वजनिक समारोह में सम्मानित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में प्रदेश के प्रत्येक जिले के 75-75 'दिव्यांग' खिलाड़ियों को भी आमंत्रित किया जाएगा, जिससे उनका मनोबल बढ़ेगा।

कुश्ती और बैडमिंटन को अपनाएगी उत्तर प्रदेश सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार ने दो बड़े खेल- कुश्ती और बैडमिंटन को अपनाने का बड़ा ऐलान किया है। प्रदेश में बैडमिंटन खिलाडिय़ों को तैयार करने का काम सरकार करेगी और ब्लॉक स्तर से ही बैडमिंटन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में बनेंगे मिनी स्टेडियम

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों के कौशल को निखारने के लिए योगी सरकार सभी 75 जिलों में ग्रामीण खेल आयोजन कर रही है और ग्रामीण क्षेत्रों में मिनी स्टेडियम स्थापित कर रही है। सरकार द्वारा निर्माण के लिए तीसरी किस्त जारी करने के साथ ही राज्य में 20 मिनी स्टेडियमों का निर्माण किया जा रहा है, इनमें से एक का काम पूरा हो चुका है। इनके अलावा, सरकार ने 30 और ऐसे स्टेडियमों को भी मंजूरी दी है जो प्रक्रिया के विभिन्न चरणों में हैं।

0Comments