होम > विशेष खबर

आज फिर से थर्राया अफगानिस्तान भूकंप की तीव्रता 4.3 रिक्टर स्केल

आज फिर से थर्राया अफगानिस्तान भूकंप की तीव्रता 4.3 रिक्टर स्केल

अफगानिस्तान में आज फिर भूकंप के झटके महसूस किये गए नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के अनुसार भूकंप की तीव्रता 4.3 थी और केंद्र फैज़ाबाद के पास था वहीँ बुधवार को आये भूकंप में पूर्वी अफगानिस्तान में लगभग 1000 लोगो की मौत हो गई और बहुत से लोग घायल हुए थे।

हिमालय पर्वत का निर्माण करोडो वर्ष पहले दो उपमहद्वीपो के टकराने से हुआ है यह अभी भी ऊपर की ओर बढ़ रहा है, दोनों उपमहाद्वीप के टकराने के वजह से ही हिमालय के भागों में भूकंप आता है जिसमे अफगानिस्तान, पाकिस्तान, भारत के हिमालयी प्रदेश और नेपाल मुख्य हैं।

पूरे विश्व में हर साल लगभग 20000 भूकंप आते है जिसमे लगभग सौ भूकंप ऐसे होते हैं जिनसे नुकसान होता है बाकी सारे भूकंप कम तीव्रता के होते है जिनसे ज्यादा नुकसान नहीं होता है भूकंप कुछ सेकेंड या मिनट तक ही रहता है, आज तक का सबसे ज्यादा समय तक रहने वाला भूकंप 18 साल पहले हिन्द महासागर में आया था जो 10 मिनट का था।

भूकंप को रिक्टर स्केल से मापा जाता है तथा सिस्मोग्राफ से जमीन की गति को मापते है जिसमे भूकंप, ज्वालामुखी विस्फोट तथा अन्य भूकम्पीय तरंगो को मापते है, रिक्टर स्केल में तीव्रता 1 अंक बढ़ने से नुकसान होने की सम्भावना 10 गुना तक बढ़ जाती है, भारत में 26 जनवरी 2001 को गुजरात में आये भूकंप से लगभग 20000 लोगों की मौत हुई थी और इसकी तीव्रता 7.7 थी।