वाराणसी के विकास के साथ ही बेहतर हो रहीं परिवहन सेवाएं

वाराणसी के विकास के साथ ही बेहतर हो रहीं परिवहन सेवाएं

वाराणसी के विकास के साथ ही यहां परिवहन सेवाओं और सुविधाओं को भी पंख लगे हैं। बाबतपुर स्थित लालबहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के विस्तारीकरण की कवायद तेज हो गई है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा टेंडरजारी कर दिया गया है। विस्तारीकरण के लिए.593 एकड़ भूमि अधिग्रहणा किया जाना है। इसका सीमांकन कर शासन को भेज दिया गया है। एयरपोर्ट रनवे की लंबाई को बढ़ाया जायेगा, जिससे यहां बड़े विमान 380 एयरबस, 777 बोइंग विमान को उतारा जा सकेगा। एयरपोर्ट रन वे के दोनों तरफ टर्न पैड और टैक्सी पैड का निर्माण कराना होगा। इसको लेकर भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की ओर से प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

रन वे के दोनों किनारों पर 09 और 27 परटर्न पैड और टैक्सी पैड निर्माण कराने में लगभग 923.35 लाख रुपये अनुमानतम का खर्च आएगा। बता दें की प्रधानमंत्री पिछले साल नवंबर में एयर इंडिया के विशेष बोइंग विमान यथार्थ 777-300 ईआर से वाराणसी एयरपोर्ट पर उतरे थे। उस दौरान कुशला पायलटों ने रन-वे पर आसानी से उतारा था। हालांकि नियमित तौर पर इस तरह के बड़े विमानों की लैंडिंग और उड़ान के लिए लंबा रन-वे जरूरी है। तकनीकी अधिकारियों ने बड़े विमानों को रनवे पर उतार कर आसानी से एप्रन तक पहुंचाने के लिए किनारे रन-वे इंड सेफ्टी एरिया, टर्न पैड और टैक्सी ट्रैक का होना जरूरी बताया था। इसको देखते हुए हवाई अड्डे पर तेजी के साथ निर्माण कार्य कराया जा रहा है।

एयरपोर्ट परडीजी यात्रा का ट्रायल

एयरपोर्ट पर यात्रियों के लिए चेहरा ही बनेगा पहचान डीजी यात्रा की शुरुआत अगले वर्ष 12 अक्टूबर को ट्रायल कर दिया गया। बीसीएएस के अप्रूवल मिलने के बाद एयरपोर्ट पर सुविधा शुरू हो जाएगी। 

इनलाइन लगेज एक्स-रे मशीन 

यात्रियों की सुविधा व सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस मशीन को अमेरिका के स्मिथ कम्पनी से मंगाया गया है। इस मशीन की कुल लगभग लागत 23 करोड़ रुपये है। यह अत्याधुनिक स्क्रीनिंग मशीन है, जिसके इंस्टाल हो जाने से यात्रियों को काफी राहत मिली।

नया एएसआर और एमएसआर भवन बनाने की तैयारी 

एयरपोर्ट विस्तारीकरणके अंतर्गत 60 करोड़ की लागत से नया एएसआर और एमएसआर भवन बनाने की तैयारी पूरी कर ली गयी है, जिसका निर्माण कार्य जल्द ही शुरू किया जाना है। टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गयी है। यह भवन अत्याधुनिक मोनोपल्स सेकेंडरी सर्विलांस रडार युक्त होगा। इससे विमानों का आवागमन पहले की अपेक्षा और अधिक सुगम व सुरक्षित होगा।

9वीं तकनीकी श्रेणी का फायर स्टेशन

वाराणसी एयरपोर्ट के सुविधाओ के विस्तारीकरण में नए फायर स्टेशन का निर्माण कार्य जल्द सुरु किया जाएगा। टेंडर प्रक्रिया व जमीन का सीमांकन का कार्य पूरा कर लिया गया है। इस फायर स्टेशन के निर्माण में लगभग सात करोड़ रुपये खर्च होगा।अभी तक एयरपोर्ट पर 7वीं श्रेणी का फायर स्टेशन कार्य कर रहा है।

एयरपोर्ट पर शटल बस सर्विस सेवा

एयरपोर्ट पर शटल बस सर्विस सेवा शुरू होने से यात्रियों को काफी सुविधा होगी, यात्रियों को धूप और बारिश मे विमान से उतरने के बाद पैदल नहीं चलना होगा, यह सेवा शुरू होने मे लगभग एक करोड़ 86 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे।

अत्याधुनिक अस्पताल का निर्माणः 

वर्तमान समय मे एयरपोर्ट पर चिकित्सा की सुविधा तो मौजूद है लेकिन गम्भीर परिस्थिति में मरीज को एयरपोर्ट से 20 किलोमीटर दूर भेजा जाता है। इसको देखते हुए मात्र डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर एक अत्याधुनिक अस्पताल का निर्माण कराया जा रहा है। इसमे आठ एचडीयू व चार आईसीयू, छह प्राइवेट बेड होंगे। यह अस्पताल सीएसआर के माध्यम से लगभग तीन करोड़ की लागत से बनाया जा रहा है।

2Comments