संयुक्त राष्ट्र ने अफगानिस्तान के लिए मांगे 60.6 करोड़ डॉलर

संयुक्त राष्ट्र ने अफगानिस्तान के लिए मांगे  60.6 करोड़ डॉलर

सोमवार को सभा करके अफगानिस्तान के लिए आपातकालीन फंड के तौर पर दुनिया के दानदाताओं से 60.6 करोड़ डॉलर मांगे। इस अपील के बदले सभा में करीब एक अरब डॉलर जुट गए। अमेरिका ने छह करोड़ 40 लाख डॉलर, नॉर्वे ने एक करोड़ 15 लाख डॉलर दान दिए हैं।

वर्ल्ड फूड प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक डेविड बेस्ले के मुताबिक, एक करोड़ 40 लाख लोग भूखे मरने के कगार पर हैं। फंड में से बड़ा हिस्सा वर्ल्ड फूड प्रोग्राम के अभियानों के लिए जाएगा, ताकि लोगों की भोजन जैसी बुनियादी जरूरतों को पूरा किया जा सके। 

प्रोग्राम ने बताया कि अफगानिस्तान में गेहूं की 40 फीसदी फसल बर्बाद हो चुकी है। खाने-पीने के सामानों की कीमतें कई गुना बढ़ चुकी हैं। लोगों के पास राशन खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं।

आपको बता  दें कि अमेरिका जब तक अफगानिस्तान में था वहां हर दिन युद्ध पर करीब 30 करोड़ डॉलर खर्च कर रहा था। बाइडेन प्रशासन ने अभी तक तालिबान सरकार को आधिकारिक मान्यता नहीं दी है। 

इस धनराशि को आवंटित करने के बाद इस साल अफगानिस्तान को दी जाने वाली अमेरिकी मानवीय सहायता 33 करोड़ डॉलर तक पहुंच गई है। अमेरिका अब अफगानिस्तान को डोनेशन देने वाला सबसे बड़ा सहयोगी बन गया है। 

0Comments