सार्वजनिक स्थानों पर न हो प्रतिबंधित जानवरों की कुर्बानी : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

सार्वजनिक स्थानों पर न हो प्रतिबंधित जानवरों की कुर्बानी : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लखनऊ| उत्तर प्रदेश में इस बार बकरीद के मौके पर सख्ती रखी जाएगी। दरअसल कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते बकरीद के मौके पर ढील नहीं दी जाएगी। कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बकरीद के मौके पर सख्ती करने के निर्देश दिए है। 


मुख्यमंत्री योगी ने टीम-09 के साथ समीक्षा बैठक की। इस बैठक में उन्होंने कहा कि प्रदेश में 21 जुलाई को किसी भी सार्वजनिक स्थल पर कुर्बानी बर्दाश्त नहीं होगी। इसके साथ ही किसी भी जगह पर 50 या इससे अधिक लोगों को एकत्र नहीं होने दिया जाएगा। 


मुख्यमंत्री ने प्रशासन को ये सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है कि बकरीद पर गोवंश व ऊंट की कुबार्नी न हो। इसी के साथ ये भी देखना होगा कि जानवरों की कुर्बानी सार्वजनिक स्थल पर न की जाए। कुर्बानी सिर्फ चिन्हित स्थानों और निजी परिसरों में ही दी जाएगी। इस दौरान स्वच्छता का भी खास ख्याल रखना होगा। 


उलेमा ने की अपील


मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद शहर के उलेमा ने भी लोगों से अपील की है कि ईद की नमाज में 50 से अधिक लोग न एकत्र हो। उत्तर प्रदेश के कई मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कोरोना संक्रमण के कारण बकरीद की नमाज मोहल्ले की मस्जिदों में ही अदा करने की अपील की है। इसके अलावा लगातार दूसरे वर्ष बकरीद ऊंटों की कुबार्नी नहीं की जाएगी, सरकार ने अब इस पर प्रतिबंध लगा दिया है। 


प्रवक्ता हाजी फरमान हैदर ने कहा कि बकरीद को देखते हुए सभी से अपील है कि वह कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें। खुली जगह पर कुबार्नी करने की बजाय बंद जगह पर करें। उन्होंने बताया, साफ-सफाई का भी ख्याल रखें और मस्जिदों में भीड़-भाड़ न करें, अपने मोहल्ले की मस्जिदों में ही नमाज पढ़ें। साथ ही कुबार्नी के फोटो सोशल मीडिया पर न डालने को कहा है।


2Comments